बर्थ प्लान करते समय रखें इन बातों का विशेष ध्यान

नॉर्मल डिलिवरी के बाद शिशु को आमतौर पर आपके ऊपर रखा जाता है और गर्म कंबल के साथ कवर किया जाता है। आप अपने डॉक्टर या नर्स को बता सकती हैं कि आप प्रसव के तुरंत बाद अपने शिशु को पकड़ना पसंद करेंगी। आप उन्हें यह भी बता सकती हैं कि आप चाहती हैं कि आपका बच्चा पहले थोड़ा ड्राई हो जाए या उसे साफ किया जाए।

गर्भावस्था में नौ महीने शिशु को लेकर कई सपने संजोए होंगे। अब वक्त आ गया है कि आप उन्हें हकीकत में बदल सकती हैं। अगर आपको घर में कुछ खास डेकोरेशन करवानी हो तो इनके बारे में लेबर से पहले ही प्लान तैयार कर लें। आप शिशु के साथ एक ही बेड पर सोने वाली हैं या उसे अलग सुलाएंगी यह कंफर्म कर लें।

कई परिवारों में शिशु के लिए सामान जन्म से पहले नहीं खरीदने की परंपरा होती है। यदि आपके यहां भी शिशु के जन्म से पहले उसके लिए शॉपिंग न करने की परंपरा है, तो आप उन सब की लिस्ट पहले से ही तैयार कर लें।

शिशु के जन्म के बाद जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी आप अपनी मदद के लिए किसी को अपने पास रखें। बर्थ प्लान में यह योजना भी बना लें कि जब आप थकी होंगी तो आपकी मदद कौन कर सकता है।

नन्हें शिशु के स्वागत के लिए केवल आप और आपके पति को ही बदलाव करने की जरुरत नहीं है, बल्कि आपके पेट्स को भी इसके लिए तैयार होना पड़ता है। यदि आपका पालतू कुत्ता या बिल्ली आपके बिस्तर पर सोता रहा है तो उनके सोने का इंतजाम घर में किसी और जगह कर दें। ताकि उन्हें कमरे से बाहर रहने की आदत हो जाए।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *