जानिए काली खांसी से छुटकारा पाने का घरेलू उपाय

काली खांसी को पर्टुसिस (Pertussis) भी कहा जाता है, यह अत्यधिक संक्रामक बैक्टीरियल इन्फेक्शन है। यह बैक्टीरियम बोर्डटेला पर्टुसिस (Bacterium bordetella pertussis) के कारण होता है, जिसमें श्वसन मार्ग की लाइनिंग जैसे वायु नली (Trachea) और ब्रांकाई (Bronchi) प्रभावित होते हैं। काली खांसी से प्रभावित व्यक्ति को खांसते समय कफ (बलगम) आता है और सांस लेते समय सांस में से एक पेनी आवाज़ आती है जो “वूप” जैसी सुनाई देती है। काली खासी किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती है।

अगर आप काली खांसी से पीड़ित हैं तो इलाज के लिए अपने डॉक्टर से एक बार जांच जरूर करवाएं। साथ ही काली खांसी के शुरूआती लक्षणों में आप कुछ घरेलु उपायों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह बेहतरीन उपाय आपकी काली खांसी को जल्द से जल्द ठीक करने में मदद करेंगे। काली खांसी के घरेलू उपाय इस प्रकार है –

काली खांसी का घरेलू उपाय है अदरक –
अदरक बहुत ही बेहतरीन एक्सपेक्टोरैंट (Expectorant) है जो काली खांसी का इलाज करने में मदद करती है। इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण भी होते हैं जो बैक्टीरिया का सफाया करने में मदद करते हैं। इसके अलावा, इसमें रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के भी गुण होते हैं जो इन्फेक्शन से लड़ते हैं और तेजी से इसका इलाज करते हैं।

अदरक का इस्तेमाल दो तरीकों से करें:

पहला तरीका:

सामग्री:

दो बड़ा चम्मच अदरक का जूस। (और पढ़ें – अदरक के फायदे)
दो बड़ा चम्मच कच्चा शहद। (और पढ़ें – शहद के फायदे)
बनाने व उपयोग करने का तरीका:

सबसे पहले इन दोनों सामग्रियों को अच्छे से मिला लें।
मिलाने के बाद मिश्रण को खा लें।
इस उपाय को कुछ दिनों तक इसी तरह रोजाना पूरे दिन में दो बार दोहराएं।

दूसरा तरीका:

सामग्री:

दो बड़ा चम्मच अदरक का जूस।
दो बड़ा चम्मच नींबू का जूस।
दो बड़ा चम्मच प्याज का जूस।
बनाने व उपयोग करने का तरीका:

सबसे पहले सभी सामग्रियों को एक साथ मिला लें।
अब इस मिश्रण का एक चम्मच पूरे दिन में दो से तीन बार लें।

कुकुर खांसी का उपाय है हल्दी –
हल्दी में एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं जो काली खांसी का इलाज करने में मदद करते हैं। इसमें इलाज करने वाले गुण होते हैं जो खांसी के लिए प्रभावी होते हैं, खासकर सूखी खांसी। हल्दी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करती है और शरीर में मौजूद इन्फेक्शन से लड़ती है।

हल्दी का इस्तेमाल दो तरीकों से करें:

पहला तरीका:

सामग्री:

एक बड़ा चम्मच कच्चा शहद।
एक छोटा चम्मच हल्दी।
बनाने व उपयोग करने का तरीका:

सबसे पहले दोनों सामग्रियों को एक साथ मिला लें।
फिर मिश्रण को खा लें।
इस मिश्रण को पूरे दिन में दो बार लें।

दूसरा तरीका:

सामग्री:

एक ग्लास गर्म दूध।
एक छोटा चम्मच हल्दी।
बनाने व उपयोग करने का तरीका:

एक ग्लास गर्म दूध में हल्दी मिला लें।
मिलाने के बाद दूध को पी जाएं।
इस उपाय को पूरे दिन में दो बार करें।
इसके अलावा आप हल्दी के सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं, लेकिन लेने से पहले अपने डॉक्टर से एक बार बात जरूर कर लें।

काली खांसी का नुस्खा है लहसुन –
लहसुन में प्राकृतिक एंटीबायोटिक गुण होते हैं जो बैक्टीरिया से लड़ते हैं, जिनकी वजह से काली खांसी होती है। इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं जो पर्टुसिस इन्फेक्शन के प्रभाव को कम करते हैं।

लहसुन का दो तरीकों से इस्तेमाल करें:

पहला तरीका:

सामग्री:

एक बड़ा चम्मच लहसुन।
बनाने व उपयोग करने के तरीके:

एक हफ्ते तक पूरे दिन में दो से तीन बार लहसुन के जूस को पिएं।
दूसरा तरीका:

सामग्री:

एक बड़ा चम्मच कटा हुआ लहसुन।
एक बड़े बर्तन में पानी।
बनाने व उपयोग करने का तरीका:

सबसे पहले बर्तन में मौजूद पानी को गर्म करें और फिर उसमें लहसुन को भी मिला दें।
अब अपने सिर को किसी कपड़े से ढकें और फिर गर्म पानी से भाप लेना शुरू करें।
यह उपाय बेहद छोटे बच्चों के लिए ठीक नहीं है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *