जानिए ओरल सेक्स कितने तरीके से किया जा सकता है?

सेक्शुअली एक्टिव युवाओं और वयस्कों में ओरल सेक्स को काफी पसंद किया जाता है। जिसे किसी भी सेक्शुअल आइडेंटिटी वाले कपल्स ट्राय कर सकते हैं और प्लेजर पा सकते हैं। ओरल सेक्स में प्रेग्नेंसी की संभावना भी नहीं होती है, जिस वजह से टीनएजर्स भी बिना किसी डर के इसका आनंद ले पाते हैं। भारत जैसे देश में जहां, वर्जिनिटी का भावनात्मक रूप से संबंध होता है, वहां ओरल सेक्स एक बहुत अच्छा विकल्प है, जिसमें वर्जिनिटी जाने का भी कोई डर नहीं होता। एक रिपोर्ट के मुताबिक, करीब 85 प्रतिशत सेक्शुअली वयस्कों ने कभी न कभी ओरल सेक्स किया है, जो कि भारी संख्या है।

हालांकि, किसी भी सेक्शुअल ऑर्गन या संवेदनशील अंगों को मुंह, जीभ, होंठ आदि के द्वारा उत्तेजित करना ओरल सेक्स के अंतर्गत आता है। लेकिन, इसे इन निम्नलिखित वर्गों में विभाजित किया गया है। जैसे-

कनिलिंगस – इसे ओरल वजायनल कॉन्टैक्ट भी कहते हैं, जिसमें पार्टनर की जीभ या होंठ से महिलाओं की वजायना या वल्वा और खासतौर से क्लिटोरिस को ओरल स्टिमुलेशन दिया जाता है।

फेलाशियो – इसे ओरल पेनाइल कॉन्टैक्ट भी कहा जाता है, जिसमें पार्टनर की जीभ, होंठ या मुंह से पुरुष पार्टनर के पेनिस को स्टिमुलेशन दिया जाता है।

एनलिंगस – इसे ओरल एनल कॉन्टैक्ट भी कहा जाता है, जिसमें एक पार्टनर के मुंह, होंठ या जीभ से दूसरे पार्टनर के एनस को स्टिमुलेशन दिया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.