जानिए कान छिदवाने के बाद देखभाल कैसे करें

कान छिदवाने के बाद देखभाल में कमी के कारण संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ जाता है। और कानों के छेद के पक जाने पर इसे ठीक होने में लंबा समय लग सकता। इसलिए कान छिदवाने के बाद उसकी देखभाल कैसे करें के बारे में जानना बहुत जरुरी हो जाता है। आमतौर पर कान छिदवाना एक पुरानी भारतीय परंपरा (tradition) है। देश के हर कोने में महिलाएं कान छिदवाती हैं और इसमें आभूषण पहनती हैं। लेकिन बदलते समय के अनुसार कान छिदवाना एक फैशन बन गया और महिलाओं के साथ ही अब कुछ पुरुष भी कान छिदवाने लगे हैं। हम अक्सर देखते हैं कि ज्यादातर महिलाओं के कान की सतह छिदी हुई होती है जबकि कुछ महिलाओं का कान एक सिरे (rear) से लेकर दूसरे सिरे तक छिदा हुआ होता है। हालांकि यह अपनी पसंद पर निर्भर करता है।

कान छिदवाने में काफी दर्द होता है और कभी कभी घाव न ठीक होने के कारण लंबे समय तक दर्द बना रहता है। वास्तव में महिलाएं कान तो छिदवा लेती हैं लेकिन कम ही लोगों को इसकी अच्छे तरीके से देखभाल करना आता है। अगर आपने हाल में ही कान छिदवाया है या फिर कान छिदवाने की योजना बना रही हैं तो इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे हैं कि कान छिदवाने के बाद कैसे करें उनकी देखभाल।

ऐसे करें कान छिदवाने के बाद देखभाल –
वास्तव में कान छिदवाने के बाद एक हल्का सा घाव (sore) जैसा बन जाता है। इसे छूने, रगड़ खाने एवं रात को सोते समय कुछ चीजों से बचाना होता है, जब तक कि यह पूरी तरह से सूख ना जाए। जब एक बार यह सूख जाता है तो फिर किसी तरह की परेशानी नहीं होती है। आइये जानते हैं कि कान छिदवाने के बाद घर पर कैसे करें देखभाल।

कान छिदवाने के बाद इसे छूने से पहले हाथ धोएं –
आमतौर पर ज्यादातर महिलाएं भूल जाती हैं कि कान छिदवाने के बाद उस स्थान पर एक खुले घाव ( open wound) के जैसा होता है। इसलिए छिदे हुए कान की देखभाल करने के लिए यह बेहद जरूरी है कि आप अपने कानों को छूने से पहले साबुन से अच्छी तरह से हाथ साफ कर लें ताकि अनावश्यक बैक्टीरिया और रोगाणु (germs) कान के छिदे हुए क्षेत्र में प्रवेश ना करें।

कान छिदवाने के बाद इसकी अच्छे से सफाई करें –
कान छिदवाने के बाद जो सबसे जरूरी देखभाल होती है वह है छिदे हुए कान के आसपास सफाई रखना। इस क्षेत्र को अच्छी तरह से साफ रखने से संक्रमण को रोका जा सकता है जिससे घाव जल्दी सूखता है। आमतौर पर संक्रमण से बचने के लिए आप नमक पानी (salt water) से कान के घाव को साफ कर सकती हैं। यह प्राकृतिक रुप से कान के घाव को ठीक करने में मदद करता है और छिदे हुए कान के आसपास गंदगी (debris) इकट्ठा नहीं होने देता है।

कान छिदवाने के बाद एल्कोहल या परॉक्साइड का प्रयोग ना करें –
कान छिदवाने के बाद यदि आप घाव को ठीक करने के लिए एल्कोहल या परॉक्साइड लगाकर सफाई करने वाली हैं तो यह भूल कभी ना करें। वास्तव में यह छिदे हुए कान के आसपास के क्षेत्र को सूखा देता है जिसके कारण स्वस्थ एवं नई कोशिकाएं नष्ट हो जाती हैं। इसके अलावा यह घाव ठीक होने की प्रक्रिया (healing process) को भी धीमा कर देता है। इसलिए जरूरी है कि कान छेदने वाले से सलाह लेकर की कोई द्रव (liquid) कान में लगाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.