जानिए कैसे लेना चाहिए ब्रा का सही नाप

बाल्यावस्था से जब लड़कियां किशोरावस्था में कदम रखती हैं तो उनमें कई तरह के शारीरिक परिवर्तन होते हैं। किशोरियों के लिये बड़ी समस्या तब उत्पन्न होती है जब वह पहली बार अपने लिए ब्रा का चयन करने जाती हैं। लेकिन यह समस्या केवल किशोरियों तक ही सीमित नहीं है बल्कि कई महिलाओं को भी अपनी ब्रा का सही माप नहीं पता होता। जिससे वह गलत माप की ब्रा पहनने को मजबूर हो जाती हैं। इसके अलावा गर्भावस्था के दौरान और प्रसव के बाद भी नारी के शरीर में परिर्वतन होते हैं। ऐसे में ब्रा का सही माप जानना काफी मुश्किल हो जाता है।

हम आपको कुछ ऐसे तरीके बता रहे हैं जो आपको सही नाप की ब्रा खरीदने में मदद करेंगे –

यह तरीका अपनाने के बाद आप अपने सही कप साइज के बारे में जान पाएंगी और आरामदायक एवं सही नाप की ब्रा खरीद सकेंगी।

ब्रा का सही नाप लेने के लिए आप घर पर ही पारंपरिक विधि के द्वारा इंच टेप से अपने स्तनों का सटीक माप ले सकती हैं। इसके अलावा चाहे तो आप बाज़ार में उपलब्ध अलग-अलग तरह के साइज की ब्रा का चुनाव कर सकती हैं। अलग-अलग स्टाइल की ब्रा पहन कर देखने से आपको खुद ही महसूस होगा कि कौन सी ब्रा आपके ब्रेस्ट साइज के हिसाब से फिट है। अगर आप अपनी ब्रा का साइज घर पर बैठ कर जानना चाहती हैं तो निम्न तरीको को अपनाकर अपना ब्रेस्ट साइज का पता लगा सकती हैं।

स्टेप-1 ब्रेस्ट का साइज ऐसे नापें
अपने स्तन (ब्रेस्ट) के नीचे इंच टेप लपेटें, जिससे कि टेप का सिरा ब्रेस्ट के नीचे से पीठ से होकर वापस आपके सीने तक आ जाए। इस माप को ‘अंडर बस्टलाइन’ माप कहते है अब जितना टेप पर नंबर आए उसमें 5 और जोड़ें। जैसे की आपके ब्रेस्ट का टेप के हिसाब से नाप आता है 27 तो अब इसमें और 5 जोड़ दें। 5 को जोड़ने से जो नया नंबर मिलेगा (27+5= 32)। इसका अर्थ है कि आपका ब्रा साइज भी 32 है।

अब आप अपने ब्रेस्ट के सबसे बड़े या सबसे उभार वाले भाग की नाप लें, जिसे ‘ओवर बस्टलाइन’ कहते हैं। इसका नाप लेते वक्त आपके हाथ एकदम नीचे होने चाहिए। यहां यह ध्यान रखें कि हमेशा ‘ओवर बस्टलाइन’ की माप आपके ब्रेस्ट साइज के माप से ज्यादा होनी चाहिए। आपकी ‘अंडर बस्टलाइन’ की माप और ‘ओवर बस्टलाइन’ की माप का अंतर ही आपकी ब्रा का सबसे सही कप साइज होगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *