जानिए प्रेगनेंसी के दौरान पैदल चलने के फायदे

गर्भावस्था एक ऐसा समय है, जब आपको विशेष रूप से सक्रिय रहना चाहिए। इसका कारण है कि आपको न केवल खुद का बल्कि अब अपने होने वाले शिशु के बेहतर स्वास्थ्य का भी ध्यान रखना है। ऐसे में टहलना (ब्रिस्क वॉकिंग) गर्भवती माताओं के लिए एक बेहतरीन और सुरक्षित व्यायाम है। गौरतलब है कि तेज चलना आपके दिल और फेफड़ों के लिए अच्छा व्यायाम है। यह एक ऐसा व्यायाम है, जिसे आप आसानी से अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकती हैं। यदि अकेले टहलना आपको बोर करता हो तो आप किसी समूह को जॉइन कर सकती हैं या फिर अपने पति के साथ वॉक पर जा सकती हैं। इससे आपका समय बेहतर कटेगा ही साथ ही साथ आपको अधिक वॉक करने की प्रेरणा भी मिलेगी।

प्रेग्नेंसी के दौरान कैसे करें वॉक –

अगर आप एक सक्रिय जीवनशैली नहीं जीती हैं और वॉक करने की अभ्यस्त नहीं हैं तो आपको गर्भावस्था की शुरुआत से ही तुरंत अधिक वॉक नहीं करना चाहिए बल्कि धीर-धीरे अपनी वॉक का समय और गति बढ़ानी चाहिए।
शुरूआत में एक दिन के अंतराल पर 15 से 20 मिनट के लिए वॉक करें।
उसके बाद सप्ताह में चार दिन वॉक करना तय कर लें और रोजाना पांच -पांच मिनट की वॉक बढ़ाती जाएं।
तय करें कि प्रति सप्ताह पांच दिन 20 मिनट तक वॉक करनी ही है।
अगर आप शुरूआत से वॉक जैसी शारीरिक गतिविधियों को लेकर अभ्यस्त हैं तो प्रति सप्ताह छह दिन वॉक करें।
रोजाना कोशिश करें कि 40 मिनट तक वॉक कर सकें।
अगर आप बहुत सक्रिय जीवनशैली जीती हैं तो सप्ताह में छह दिन एक घंटे के लिए वॉक करें।
थोड़ी दूरी पर जाने के लिए वाहन की बजाय पैदल चलकर जाएं, लिफ्ट की जगह सीढ़ियों का प्रयोग करें।
क्या लाभ होते हैं

कब्ज की दिक्कत को दूर रखना – प्रेग्नेंसी में दवाइयों की वजह से कब्ज की शिकायत हो सकती है। ऐसे में, रोजाना 15 से 20 मिनट की वॉक आपको इस समस्या से दूर रखेगी।
तनाव कम करता है – प्रेग्नेंसी के दौरान कई महिलाओं को तनाव घेर लेता है। इस दौरान मूड स्विंग होना भी एक सामान्य समस्या है। टहलना एक तरह की एक्सरसाइज तो है ही, साथ ही साथ इससे तनाव भी कम होता है। शोध बताते हैं कि शिशु भी इससे स्वस्थ रहता है।
स्फूर्ति प्रदान करता है – रोजाना टहलने से शरीर तरोताज़ा बना रहता है। यहाँ तक कि माँ के टहलने से शिशु की भी कसरत हो जाती है।
अच्छी नींद आती है – रोज़ाना कुछ देर टहलने से सोते समय नींद अच्छी आती है। (और पढ़े – नींद की कमी का इलाज)
ब्लड प्रेशर कम करने के लिए – सामान्य तौर पर प्रेग्नेंसी में ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। ब्लड प्रेशर का बढ़ना; मां और बच्चे दोनो के लिए खतरनाक हो सकता है। रोज़ाना टहलने से ब्लड प्रेशर सामान्य रहता है।
शरीर में रक्त संचार बढ़ाता है – प्रतिदिन सुबह की सैर आपके फेफड़ों में शुद्ध हवा भरती है। इससे आपके खून में ऑक्सीजन का प्रवाह होता है और शरीर की रक्त कोशिकाओं के दोबारा बनने की प्रक्रिया भी पहले से बेहतर होती है।

शारीरिक फिटनेस मिलती है – प्रेग्नेंसी में वॉक करने से आप फीट और एक्टिव रहती हैं। इससे पूरे शरीर का व्यायाम हो जाता है। साथ ही मांसपेशियां भी मज़बूत बनती हैं।
बच्चे का स्वास्थ्य बेहतर रहता है – वॉक करने से जहां नैचुरल डिलीवरी होती है, वहीं बच्चे का वज़न भी संतुलित रहता है। वॉक करने से कूल्हे की मांसपेशियां टोन होती है, साथ ही शरीर में लोचता बढ़ती है। इससे सुरक्षित प्रसव की संभावनाएं और बढ़ जाती है।
और भी कई लाभ हैं – मॉर्निंग सिकनेस, वैरीकोज वेन्स, थकान और दर्द जैसी कई समस्याएं नियमित तौर पर वॉक करने से कम होती है। साथ ही प्रतिदिन की वॉक आपकी एक्सट्रा कैलोरी को भी बर्न कर देती है जिससे कि आप एक अच्छी नींद ले पाते हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *