जानिए ज्यादा हस्तमैथुन करने के नुकसान

हस्‍तमैथुन को लेकर बहुत सी भ्रांतियां भी हैं, जैसे यह बहुत हानिप्रद है, या पेनिस को कमज़ोर कर देता है, इससे उसमें पतलापन आ जाता है, नपुंसकता हो सकती है आदि। समाज में इसके प्रति रुख के कारण व्यक्ति में एक गिल्ट फीलिंग आ सकता हैं जो की गलत है। अन्य प्रक्रियाओं की तरह यह भी नेचुरल है और सभी ने कभी न कभी इसे किया होता है।

क्या हस्तमैथुन ग़लत है?
बिलकुल नहीं. यह खुद को ‘अच्छा एहसास’ कराने का प्रकृतिक तरीका है. इससे आप खुद को खुशी देते हैं. इसे बेहद निजी मामला माना जाता है. इस बात का ध्यान रहे कि सार्वजनिक जगहों पर ऐसा करना गैर क़ानूनी है.

इसे लड़के और लड़कियां दोनों ही करते हैं. लड़कों में 17 साल की उम्र के बाद इसे करने की इच्छा बढ़ने लगती है. हालांकि कुछ युवा ऐसा नहीं करते हैं. जब तक आपको हस्तमैथुन करने का मन न हो, इसे न करें.

बार बार हस्तमैथुन करने से लिंग की मासपेशियों में वीर्य के पहले निकलने वाला द्रव मांसपेशियों में चला जाता है, जिसके कारण लिंग में सूजन आ जाती है। यह सूजन तब तक रहती है, जब तक वो द्रव वापस रक्त में नहीं चला जाता। साथ ही हस्तीमैथुन के दौरान जारी प्राथमिक द्रव में प्रोटीन होता है जो कई चयापचय गतिविधियों और सेल संरचनाओं के लिए आवश्यक होता हैं। प्रोटीन हमारे शरीर की बिल्डिंग ब्लॉक है। स्खलन अक्सर आपको दुबला बनाता हैं और मांसपेशियों के निर्माण के लिए चयापचय का ध्यान खींचता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.