गैस सिलेंडर का रंग लाल ही क्यों हरा क्यों नहीं होता है,जानिए

हम बात करते है उस युग की जब गैस नही थी तब लोग मिट्टी के चोल्हे का प्रयोग करते थे। धीरे थीरे मिट्टी के चोल्हे की जगह मिट्टी के तेल से चलने वाले स्टॉप ने ले ली। यह भी बहुत देर तक प्रयोग किया गया। पर इन सब मे समय ज्यादा और प्रदूषण बहुत होता था । कई औरतो को इससे दामे की बीमारी हो जाती थी। पर समय हर चीज़ को बदल देता है और फिर LPG गैस की खुज हुई। वैज्ञानिकों ने कहा इसे आग जलाने में प्रयोग कर सकते है। फिर सिलिंडर में इसको भरा गया और घर घर इसका प्रयोग किया जाने लगा । पर एक बात जो हर कोई जानना चाहता है कि गैस के सिलिंडर का रंग लाल ही क्यों कोई और रंग में क्यों नही आईये जाने इसके पीछे की वजह।

गैस के सिलिंडर के लाल रंग होने के कारण :-
क्या आपने कभी सोचा है कि एलपीजी गैस …

1 LPG गैस काफी ज्वलनशील होती है और यह बहुत हानि पहुंचा सकती है इसलिए इसे खतरा की निशानी भी कहा जाता है
हमारे भारत मे खतरे को लाल रंग से दर्शाया जाता है इस कारण से भी इसका रंग लाल है।

2 लाल रंग बहुत दूर से ही चमक जाता है जैसे अगर इसे बहुत दूर से देखा जाए तो यह दिख जाएगा इसलिये इसका रंग लाल है।

3 एलपीजी गैस ही नहीं बल्कि अलग-अलग गैस सिलेंडरों को अलग-अगल रंगों से रंगा जाता है

• सफ़ेद रंग से ऑक्सीजन के सिलिंडर को दर्शाया जाता
है,
• नीले रंग से नाइट्रस ऑक्साइड के सिलेंडर को,
• जिसमे जहरीली गैस होती है उन्हें पीले से,
• कार्बन-डाई-ऑक्साइड गैस वाले सिलेंडर को ग्रे रंग
से,

गैस सिलेंडर से जुड़ी ऐसी जानकारी जो …
• नाइट्रोजन गैस वाले सिलेंडर को काले रंग से,
• हीलियम गैस के सिलेंडर को भूरे रंग में रंग से

इन सभी को इसलिए अलग अलग रंग से रंगा जाता है ताकि अगर सब एक साथ रख दिये जाए तो सब की पहचान उनके रंग से की जा सके। यही कारण है कि LPG को लाल रंग से रंगा जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *