जानिए क्यों होती है लड़कियों में स्वप्नदोष की समस्या

महिला स्वप्नदोष के बाद आत्म-गिलानी महसूस करने लगते हैं। उन्हें लगता है कि, यह किसी शारीरिक समस्या या सेक्शुअल हेल्थ में समस्या के कारण हो रहा है। लेकिन, आपको डरने की कोई बात नहीं है, क्योंकि यह बिल्कुल ही सामान्य स्थिति है और यह शारीरिक विकास का एक हिस्सा है। जो कि, मास्टरबेशन या सेक्स करना शुरू करने के बाद कम हो जाता है। स्वप्नदोष सामान्यतः किशोरावस्था के दौरान होता है। इसलिए, हम अपने बच्चों को इसके बारे में शिक्षित कर सकते हैं, जिससे वो इस बारे में किसी भी प्रकार का तनाव न लें।

क्या लड़कियों को भी स्वप्नदोष की समस्या होती है?
लड़कियों या महिलाओं को भी सपने में इनवॉलेंटरी आर्गेज्म हो सकता है। लेकिन, लड़कियों का शरीर से स्पर्म स्खलित नहीं होता है, इसलिए उन्हें वेट ड्रीम्स से कोई चिंता नहीं होती है। दूसरी तरफ, लड़कियां या महिलाओं को लड़कों या पुरुषों की अपेक्षा कम वेट ड्रीम्स आते हैं।

कुछ महिलाओ को लगता है कि स्वप्नदोष होने से उनकी इम्यूनिटी कम होती है और सर्दी या संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है। लेकिन यह एक मिथ है। इसके उलट, स्वप्नदोष टेस्टिकल्स से अतिरिक्त स्पर्म को बाहर निकालने में मदद करता है, जो कि पुरुषों के प्रजनन तंत्र के लिए अच्छा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.