खड़े होकर पानी पीना हो सकता है कितना नुकसानदायक जानने के लिए पढ़िए

पानी शरीर के लिए बहुत जरूरी है। ये बात तो सब ही जानते हैं। दिन भर में 3-4 लीटर पानी पीना चाहिए। आज कल लोग इतने व्यस्त हो गए हैं कि हर काम जल्दी करने का तरीका निकाल लेते हैं। जैसे पहले सब बैठकर गिलास से पानी पीते थे, और अभी बोतल से पानी पीने लगते हैं।

प्राय सभी बोतल से जहां तहां पानी पी लेते हैं, और ये आदत बन जाती है। पर क्या आप जानते हैं खड़े होकर पानी पीना शरीर के लिए कितना नुकसानदायक हो सकता है। आज हम आपको खड़े होकर पानी पीने से होने वाले नुक़सान के बारे में जानकारी देने की कोशिश करेंगे।

1) पाचन तंत्र- जब हम खड़े होकर बोतल से पानी पीते हैं तब पानी का प्रवाह तेज होता है और पानी की मात्रा भी अधिक होती है। ये तेजी से जाकर हमारी आंतों और पेट की दिवारो पर धक्का मारता है। इससे पेट की दिवार और उसके आसपास के अंग प्रभावित होते हैं। इसका पाचन तंत्र के ऊपर बुुुरा प्रभाव पड़ता है। खाना पचने में समय लगता है। गैस की दिक्कत भी हो सकती है।

2) गठिया- पानी खड़े होकर बोतल से पीने से शरीर के अंदर मौजूद तरल पदार्थों का संतुलन बिगड़ने लगता है। जोड़ों के अन्दर मौजूद तरल पदार्थ को भी कम कर देता है। इस कारण जोड़ों का दर्द और गठिया जैसी बिमारियां उत्पन्न होने लगती है।

3) किड़नी- पानी ऊंचा करके पीने से पानी का प्रवाह तेज होता है। और पानी की गति ज्यादा होने के कारण पानी गुर्दे में अच्छे से छने बिन ही जल्दी निकल जाता है। इस कारण मुत्राशय और रक्त में गन्दगी चली जाती है। युुुुरिन इन्फेक्शन, ब्लड इन्फेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है। किड़नी से संबंधित बिमारियां होने लगती है। जब ये गन्दा रक्त दिल से गुजरता है दिल की बिमारी होने कारण भी संभावना भी बढ़ जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *