ऐसा सच , परिवार के बीच मरे हुए लोगों की लाश को सजाकर रखते हैं लोग

Such a truth, people keep the dead bodies of the dead among the family

आज हम आपको एक ऐसेे सच बताएंगे जिसके बारे में आपने शायद ही सुना होगा और ना कभी आपने देखा होगा कि किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है। तो उसे उसके धर्म के हिसाब से और उसके रीति रिवाज़ से उसको दफन किया जाता है।

लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि मरे हुए लोगों के शव को लोग दफन न करके उनके परिवार के साथ सजाकर रखते हैं। क्या आपको पता है कि न्यू गिनी में स्थित पापुआ के पहाड़ों व जंगलों के बीच दानी नामक एक जनजाति रहती है।

पश्चिमी पापुआ के वामेना में स्थित इस गांव को पहली बार साल 1938 में अमरीकन जूलॉजिस्ट रिचर्ड आर्कबोल्ड ने खोजा था। यह जनजाति अपने पूर्वजों के शरीर को घर में सजाकर रखने के लिए जानी जाती है। पहाड़ो में छिप कर रहने वाली इस जनजाति के लोग अपने बड़े-बूढ़ें घरवालों की मौत के बाद उनके शरीर को घर में ही रख देते हैं।

ऐसा करने के लिए उन्हें पूर्वजों के शव के साथ कई दिनों तक बैठे रहना पड़ता है। पहले मृत शरीर को ममी बनाने के लिए शव पर धुआं लगाया जाता है। धुआं शरीर पर तब तक लगाया जाता है जब तक शरीर ममी में न बदल जाए। ऐसा करने से लाश को कई सालों तक सुरक्षित रखा जा सकता है। यह उनकी अनोखी परंपरा सदियों से चली आ रही है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *