लॉकडाउन के चलते भारतीय अर्थव्यवस्था में सबसे बड़ी गिरावट, जीडीपी ग्रोथ रेट आया -23.9% पर

कोरोना के चलते चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून)
में देश की आर्थिक विकास दर यानी जीडीपी की ग्रोथ रेट में 23.9
प्रतिशत की गिरावट आई है।

इससे पहले वित्त वर्ष 2019-20 की
चौथी तिमाही यानी जनवरी-मार्च के दौरान ग्रोथ रेट 3.1 प्रतिशत थी।
जीडीपी में शामिल किए गए कुल 8 सेक्टर्स में से केवल एग्रीकल्चर
ही एकमात्र ऐसा सेक्टर रहा है, जिसमें बढ़त देखी गई है।

बाकी के
सात सेक्टर्स में भारी गिरावट रही है। सोमवार को राष्ट्रीय सांख्यिकी
कार्यालय (सीएसओ) की ओर से यह आंकड़ा जारी किया गया।
जीडीपी में कुल 8 सेक्टर्स में से एकमात्र कृषि सेक्टर की ग्रोथ रेट 3.4
प्रतिशत रही है।

माइनिंग सेक्टर में 23.3 प्रतिशत की गिरावट दिखी
है। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में 39.3 प्रतिशत की गिरावट दिखी है तो
कंस्ट्रक्शन सेक्टर की ग्रोथ रेट में 50.2 प्रतिशत की गिरावट आई है।
ट्रेड, होटल्स, ट्रांसपोर्ट और कम्युनिकेशन सेक्टर की वृद्धि दर में 47
प्रतिशत की गिरावट दिखी है।

गैस, वाटर सप्लाई, इलेक्ट्रिसिटी जैसे
युटिलिटी सेक्टर में 7 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। इन आंकड़ों
का मतलब यह है कि कृषि को छोड़कर बाकी सभी सेक्टर्स ने खराब
प्रदर्शन इस दौरान किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.