दुनिया का सबसे बड़ा आश्चर्य, झरने का पानी नीचे नहीं गिरता, बल्कि आकाश में जाता है

प्रकृति आश्चर्य से भरी है। इसीलिए बार-बार हमें ऐसे ही जानकारियां प्राप्त होती हैं, जो मनुष्य की बुद्धि को झकझोर के रख देती हो। जो हमें प्रकृति के नियमों के खिलाफ लगता है, वह साक्षात होता हुआ दिखाई पड़ता है। तो हम कैसे संदेह कर सकते हैं?

प्रकृति का नियम है कि, पृथ्वी पर कोई भी चीज ऊपर से नीचे की ओर आती है। इसमें ‘ठोस’ वस्तुओं से लेकर, ‘पानी’ तक शामिल है। परंतु, सिडनी (ऑस्ट्रेलिया) के रॉयल नेशनल पार्क में, एक ऐसा “पहाड़ी-झरना” मौजूद है, जिसमें पानी नीचे नदी या खाड़ी में गिरने की बजाएं ऊपर हवा में या “आकाश” में जाता है। इसको देखने विश्व भर से लोग आते हैं। प्रकृति का यह अजूबा, बेहद खूबसूरत, नजारा; हमको आश्चर्य और रोमांचकारी अनुभव देता है।

हालांकि यह प्रकृति के नियमों को चैलेंज नहीं कर रहा है, बल्कि इसके पीछे भी वैज्ञानिकों ने शोध कर के कारण बताया है।

समुद्र तट के किनारे स्थित इस पहाड़ी पर 70 किलोमीटर/ घंटा की रफ्तार से हवाएं चलती रहती है। इन हवाओं का दबाव इतना ज्यादा होता है कि, ‘झरने’ से गिरता हुआ ‘पानी’, हवाओं के साथ ऊपर की ओर उड़ने लगता है। इससे ऐसा प्रतीत होता है कि, “पहाड़ी-झरने” का पानी नीचे ना आकर, ‘आकाश’ में कहीं विलीन हो रहा है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *