दुनिया का “एकमात्र स्तनधारी” जानवर! जो बच्चे की जगह देता है अंडे

“प्लैटिपस” नामक यह जानवर पूरी दुनिया में इकलौता ऐसा जानवर है, जो स्तनधारी होते हुए भी ‘अंडे’ देता है। यह अपने अंडे समुद्र में देता है। यह अपने आप में विश्व का ‘अजूबा प्राणी’ है। और आश्चर्य की बात है, जिसके बारे में बचपन से क्लास में पढ़ाया जाना चाहिए था। परंतु आम लोगों को इसके बारे में, कुछ भी जानकारी नहीं है। इसकी 5 प्रजातियां पाई जाती थी, जिनमें से चार नष्ट हो चुकी है। अब ‘प्लैटिपस’ अपने आप में, इकलौती जीवित प्रजाति बची है।

यह पूर्वी ऑस्ट्रेलिया एवं तस्मानिया के तटीय स्थानों पर पाया जाता है। इसके शरीर पर घने ‘फर’ होते हैं। तथा भूरे रंग का प्राणी है। इसके फर इसके शरीर को वातानुकूलित ढंग से गर्म रखते हैं। इसकी पूंछ चौड़ी और सपाट होती है।

इनमें नर 20 से 30 इंच तक लंबे तथा मादा 17 से 25 इंच तक लंबी पाई जाती है। इन का औसत वजन डेढ से ढाई किलोग्राम तक होता है।

‘प्लैटिपस’ के मुंह पर, ‘बत्तख’ के समान, एक बड़ी सी ‘चोंच’ बनी हुई रहती है। तथा इसके पंजे की उंगलियां भी, बतख के समान एक झालर नुमा त्वचा से आपस में जुड़ी रहती हैं। जो तैरने में सहायक होते हैं।

यह अपने वजन का 20% वजन का भोजन करता है। और यह 24 घंटे में से है 14 घंटे सोता रहता है।

प्लैटिपस एक अर्ध जलीय स्तनपाई प्राणी है। अर्थात यह जल में तथा जमीन पर भी रहने की क्षमता रखता है। यह पूरी तरह से मांसाहारी होते हैं। परंतु शिकारी प्रकृति के नहीं होते हैं। अर्थात यह छोटे क्रफिश, लारवा और कीड़े इत्यादि खाते हैं।

यह विषैला प्राणी होता है। जिसके काटने से मनुष्य को गंभीर दर्द का खतरा होता है।

बीसवीं शताब्दी में इसके भर के लिए इसका खूब शिकार किया गया। उसके बाद यह प्राणी है अब संरक्षित प्राणियों में शुमार कर लिया गया है। प्लैटिपस प्रदूषण के प्रति काफी संवेदनशील होता है। फिलहाल यह प्रजाति खतरे से बाहर आ चुकी है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *