किडनी को बहुत नुकसान पहुंचाती है आपकी ये गलत आदतें

यदि आपकी किडनी ठीक से काम नहीं करेंगीं, तो आपका शरीर रक्त को फ़िल्टर करने और शरीर से अपशिष्ट उत्पादों को बाहर निकालने की क्षमता खो देगा। इससे आपके शरीर में अपशिष्ट पदार्थ के साथ ही विषाक्त पदार्थों का संचय होने लगेगा जिससे आप जल्दी ही बीमार हो सकते हैं। इसलिए उन आदतों के बारे में जानने के लिए हमारा यह लेख पढ़ें जो आपके गुर्दे और उनके कामकाज को किसी न किसी तरह से नुकसान पहुंचा सकती हैं।

किडनी को नुकसान पहुंचाने वाली आदतें
किडनी (गुर्दा) मानव शरीर का एक ऐसा फ़िल्टर है जो ब्लड को दिल में भेजने से पहले उसे फ़िल्टर करने का काम करता है। किडनी मूत्र के द्वारा शरीर में जाने वाले अपशिष्ट पदार्थ को भी रोकती है। किडनी शरीर में द्रव का संतुलन बनाए रखने के लिए भी जिम्मेदार हैं। किडनी हमारे शरीर से अपशिष्ट पदार्थ के साथ कुछ विशेष विषाक्त पदार्थों को फ़िल्टर करती है और उन्हें मूत्र के रूप में परिवर्तित कर शरीर से बाहर करने में मदद करती है। कुछ आदतें हैं जो आपके गुर्दे (किडनी) के स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती हैं। हप सकता है आपको उनके बारे में पता भी न हो, लेकिन ये आदतें आपकी किडनी पर हानिकारक प्रभाव छोड़ सकती हैं जो आपके स्वास्थ्य को कई तरह से प्रभावित कर सकती हैं। कुछ ऐसी आम आदतें जो किडनी को नुकसान पहुंचाती हैं।

अधिक दर्द निवारक दवाओं का सेवन करना
अधिक दर्द निवारक दवाओं का सेवन करना आपकी किडनी को नुकसान पंहुचा सकता है। सामान्‍य दर्द या चोट आदि होने पर हम अक्‍सर दर्द से राहत पाने के लिए दर्द निवारक दवाओं का सेवन करते हैं। जो आपको दर्द से राहत दिला सकते हैं। लेकिन अधिक मात्रा में दर्द निवारक दवाओं का सेवन करने की आदत आपकी किडनी को नुकसान पहुंचा सकती है। विशेष रूप से उस दौरान जब आप पहले से ही किड़नी की बीमारी से परेशान हैं। इसलिए विशेष आवश्‍यकता होने पर ही दर्द निवारक दवाओं का सेवन करना चाहिए। साथ ही आपको इस बात का भी ध्‍यान रखना चाहिए कि अनुशंसित खुराक से अधिक मात्रा में भी इन दवाओं का सेवन न करें। क्‍योंकि ये आपके गुर्दे को नुकसान पहुंचा सकती हैं। क्‍योंकि आपको पता ही नहीं चलेगा कि दर्द निवारक दवाओं के रूप में धीमे जहर का सेवन कर रहे हैं।

नमक का अधिक सेवन करना
बहुत अधिक नमक खाना, आपके गुर्दे के लिए हानिकारक हो सकता है। अधिकांश लोग अपने भोजन में अधिक नमक का उपयोग करते हैं। जबकि यह आदत उनके गुर्दे के लिए हानिकारक हो सकती है। क्‍योंकि नमक में उच्‍च सोडियम होता है जो व्‍यक्ति के रक्‍तचाप को बढ़ा सकता है। जिसके परिणामस्‍वरूप आपकी किडनी को नुकसान हो सकता है। इसलिए अपने भोजन में अधिक नमक के बजाये अन्‍य हर्बल जड़ी बूटियों और मसालों का उपयोग करें जो आपके भोजन को स्‍वाद दिलाने के साथ ही आवश्‍यक पोषक तत्‍व उपलब्‍ध कराते हैं। इसके अलावा किडनी को स्वस्थ्य रखने कके लिए आपको अपने भोजन में ऊपर से अतिरिक्‍त नमक लेने की आदत से भी बचना चाहिए।

प्रोसेस्‍ड फूड का अधिक मात्रा में खाना
प्रसंस्‍कृत खाद्य पदार्थ (processed food) सोडियम और फास्‍फोरस के अच्‍छे स्रोत होते हैं। आज की व्‍यस्‍त जीवनशैली में अधिकांश लोग दैनिक आहार के लिए इसी प्रकार के प्रसंस्‍कृत खाद्य पदार्थों पर निर्भर हैं। जबकि उन्‍हें यह पता नहीं है कि उनकी यह आदत किडनी पर हानिकारक प्रभाव डालती है। जिन लोगों को गुर्दे संबंधी बीमारियां हैं उन्‍हें विशेष रूप से प्रोसेस्‍ड फूड का सेवन करने से बचना चाहिए। ऐसे लोगों को फास्‍फोरस की उच्‍च मात्रा वाले खाद्य पदार्थों से दूर रहना चाहिए। अध्‍ययनों से पता चलता है कि प्रसंस्‍कृत खाद्य पदार्थों से प्राप्‍त फास्‍फोरस भी एक प्रकार का धीमा जहर है। जिसका अधिक मात्रा में सेवन करना उनके गुर्दे और हड्डियों के लिए हानिकारक हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.