ये है दुनिया का सबसे दुर्लभ ‘पुष्प’,जो खिला है 100 साल के बाद खासियत जानकर चौंक जाएंगे

फूलों को अपनी खूबसूरती के लिए जाना जाता है। हमारे जीवन में फूलों को कोमलता और खूबसूरती का प्रतीक माना जाता है। कुछ पुष्प तो बहुत ही ज्यादा सुन्दर और कोमल दिखाई देते हैं। आज हम एक ऐसे ही पुष्प के बारे में चर्चा करने वाले हैं जो बहुत ही दुर्लभ पुष्प है और जिसकी विशेषताएं अन्य पुष्पों की अपेक्षा काफी अलग हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ‘दुधवा टाइगर रिजर्व’ में करीब सवा सौ साल बाद एक ऐसा पुष्प देखने को मिला है, जो पहले नहीं देखा गया है। यह फूल मुख्य रूप से आर्केड के पौधे पर देखा गया है और दुनिया की सभी प्रजातियों में इसे काफी दुर्लभ माना जा रहा है। इसके मिल जाने पर वन विभाग ने काफी खुशी जताई है और कहा है कि इस पुष्प का मिलना एक शुभ संकेत है। जो प्रजाति लगभग सवा सौ साल तक विलुप्त रही उसका मिल जाना वास्तव में ही एक अच्छी बात है। यह पोस्ट आर्केड के पौधे से प्राप्त हुआ है और कुछ समय पश्चात इस पर फल भी देखने को मिल सकते हैं।

पुष्प को सभी फूलों की श्रेणी में काफी अच्छा पुष्प को माना जाता है। वैसे तो यह पुष्प भारत के और भी क्षेत्रों में पहले कई बार देखा गया है किंतु दुधवा टाइगर रिजर्व में बहुत सालों के बाद इस तरह का पुष्प देखने को मिला है।

इस फूल की खासियत इसकी खुशबू के साथ-साथ इसकी दुर्लभता भी है क्योंकि यह एक दुर्लभ प्रजाति का पुष्प है, जो कभी-कभार ही देखने को मिलता है।देखने पर भी यह फूल काफी सुंदर दिखाई देता है। फूल की आकृति मनमोहक सी प्रतीत होती है। यह इस तरह की खुशबू उत्पन्न करता है कि मनुष्य इसके पास खिंचा चला आता है।

हम अन्य क्षेत्रों की बात करें तो यह फूल उत्तराखंड और पूर्वी भारत के राज्यों में भी देखने को मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.