दो साल पहले हुआ था तलाक अब हुई गर्भवती तो सामने आयी उस रात वाली बात जानिए फिर क्या हुआ

इंटरनेट के इस युग में सोशल मीडिया इतना ज्यादा एक्टिव हो गया है की इस तरह की कोई भी घटना किसी से छिपी नहीं रहती है. जब से सोशल मिडिया ने जन्म लिया है तबसे इस तरह की खबरे ज़्यादा आना शुरू हो गयी है.

2 साल से अपने पति से अलग रह रही विवाहिता का किसी और युवक से अवैध सम्बन्ध बनने के बाद उससे गर्भवती होने पर इस विवाहित प्रेमी जोड़े ने यह प्लान बनाया की यदि लड़का हुआ तो रखेंगे और अगर लड़की हुई तो फेंक देंगे.. इसीलिए 1 नवम्बर को जब बेटी ने जन्म लिया तो वे दोनों उसे नाली में फेंक आये. उसके बाद उस बेचारी नवजात बच्ची की मौत हो गयी.

इसके बाद जब पुलिस को सुचना प्राप्त हुई तो उसने पहले अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया लेकिन बाद में पुलिस ने सक्रियता दिखाई और उन दोनों को हिरासत में ले लिया और दोनों को जेल भेज दिया.

उन दोनों से पूछताछ में में लड़की द्वारा बताया गया की पति-पत्नी में अक्सर झगड़ा रहने के कारण पिछले दो सालो से महिला अपने गांव माहला कला में रह रही थी. पंचायती समझौते के बाद महिला और पति दोनों अलग रह रहे थे. पुलिस के अनुसार पिछले १.५ साल पहले मोबाइल फोन के ज़रिये अमनदीप कौर और जतिंदर के बीच संपर्क स्थापित हुआ.

जतिंदर जो लाड़ी के नाम से मशहूर है और लांडे गाँव का निवासी है के बीच प्रेम प्रसंग शुरू हो गया. जल्द ही दोनों मिलने लगे और दोनों में अवैध सम्बन्ध स्थापित हो गए. इसी दौरान अमनदीप के पेट में उसके प्रेमी का बच्चा पलने लगा, जबकि जतिंदर शादी शुदा होने के साथ साथ एक बच्चे का पिता भी है.

इसी बीच जब अमनदीप ने अपने गर्भवती होने की जानकारी दी तो दोनों ने इस बात का फैसला किया की अगर लड़का होगा तो रख लेंगे और अगर लड़की होगी तो कही फ़ेंक आएंगे किसी को क्या पता चलेगा. इसी बात को लेकर दोनों ने उस बच्ची को फेकने का निर्णय कर के उसे १ नवम्बर को नाली में फ़ेंक आये, मगर पुलिस की मुस्तैहदी के कारण दोनों आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं.

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *