कभी सोचा है गाड़ियों के पीछे Horn Ok Please क्यों लिखा जाता है?

सड़क पर चलते हुए हमें काफी कुछ दिखाई देता है। तरह-तरह के लोग,गाड़ियां इत्यादि। इनमें से कुछ चीजें ऐसी होती है जो हमें कभी-कभार ही देखने को मिलती हैं तो कई चीजें ऐसी भी होती है जिन्हें हम हमेशा से ही देखते आ रहे हैं। इनमें से एक है।

गाड़ियों के पीछे लिखे
जाने वाले कुछ शब्द, जैसे कि ‘बुरी नजर वाले तेरा मुंह काला’, ‘फिर मिलेंगे’, ‘जगह मिलने पर पास दिया जाएगा’ इत्यादि लेकिन इनमें से जो सबसे कॉमन वाक्य है, वह है ‘Horn Ok Please’ जो लगभग हर ट्रक या किसी माल ढोने वाली गाड़ियों के पीछे लिखा रहता है। लेकिन
क्या आप जानते हैं कि इसका अर्थ क्या है? या इसे क्यों लिखा जाता है? अगर नहीं जानते तो कोई बात नहीं, हम आपको बताते हैं इस बारे में।

गाड़ियों के पीछे ‘Horn Ok Please’ सुरक्षा की दृष्टि से लिखा जाता है। दरअसल पहले हाइवे पर बड़ी गाड़ियों के आने-जाने के लिए सिर्फ एक लेन ही होती थी। इसके कारण कई बार चालकों को ओवरटेक करने में परेशानी का सामना करना पड़ता था। इसका उपाए निकालते हुए कंपनियों नें गाड़ी के पीछे ओके लिखना शुरू कर दिया और उसके ठीक ऊपर एक छोटा सा बल्ब भी लगा दिया।

ऐसे में यदि कोई ड्राइवर पीछे से हॉर्न बजाता था तो ट्रक ड्राईवर आगे-पीछे देखकर उस लाइट को जला देता था और इस तरह से वह अन्य चालक को ओवरटेक करने की इजाजत देता था जो कि सुरक्षा की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है। हालांकि समय के साथ सड़कें भी चौड़ी होती गई और ओके के ऊपर से लगा बल्ब भी हटा दिया लेकिन ओके आज भी है।

इसके अलावा ‘Horn Ok Please’ को लिखने का एक और उद्देश्य ये भी है कि इससे सड़कों पर गाड़ियों के बीच दूरी बनी रहे ताकि दुर्घटना की आशंका को काफी हद तक कम किया जा सके।

इन सबके अलावा एक तीसरा कारण भी है। कहा जाता है कि टाटा ऑइल मिल्स लि. के द्वारा ‘Ok’ नाम से एक साबुन लॉन्च किया गया था। इस साबुन का लोगो कमल का एक फूल था। टाटा अपने द्वारा लॉन्च किए गए इस साबुन का प्रचार ट्रकों के पीछे ओके लिखकर करता था।

इससे आने जाने वाले हर किसी की नजर उस पर पड़ती थी और इससे लोगों को साबुन के बारे में अच्छे से पता लग जाता था। हालांकि अब ओके साबुन तो नहीं है लेकिन ओके लिखना एक फैशन बन चुका है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *