WWE के बारे में कुछ रोचक तथ्य क्या हैं? जानिए

डब्लू डब्लू ई को रेसलिंग का महाकुंभ माना जाता है. इस खेल में दुनिया भर के रेसलर्स शामिल होते हैं. डब्लू डब्लू ई में आपको रोमांचफाइट और एंटरटेनमेंट सब कुछ देखने को मिलता है. क्या आपको पता है कि डब्लू डब्लू ई की शुरुआत 1952 में दो पहलवान टूट्स मॉन्ड्ट और जेस मैकमहोन ने की थी और इसका नाम कैपिटल रेसलिंग कॉर्पोरेशन लिमिटेड (Capitol Wrestling Corporation Ltd.) रखा गया था. आइए जानें डब्लू डब्लू ई के कुछ रोचक तथ्यों के बारे में …

  • डब्लू डब्लू ई का पूरा नाम वर्ल्ड रेसलिंग एनटरटेनमेन्ट, इंक (World Wrestling Entertainment, Inc.) है.
  • डब्लू डब्लू ई का मुख्यालय ईस्ट मेन स्ट्रीट स्टैमफोर्ड (East Main Street Stamford,) अमेरिका में है.
  • डब्लू डब्लू ई का पहला टीवी प्रसारण सन 1970 में शुरू किया गया था.
  • WWE एक पब्लिकली ट्रेडेड कंपनी है.
  • विंस मैकमहोन (Vince McMahon) WWE के CEO है और कंपनी में करीब 52 फीसदी हिस्सेदारी है.
  • आप सब ने रिंग के नीचे रखें हथियारों को देखा ही होगा जिन्हें रेसलर इस्तेमाल करते हैं. इन हथियारों में से अधिकतर हथियार असली होते हैं. जैसे कि स्टील चेयर, हथौड़ा, सीढ़ी इत्यादि.
  • डब्ल्यूडब्ल्यूई वर्ल्ड हेवीवेट चैंपियनशिप का टाइटल 1963 मे बनाया गया था. ब्रूनो समार्टीनो एक मात्र ऐसे रेसलर है जिनके पास यह चैंपियनशिप सात वर्ष से भी अधिक समय तक रही थी.
  • WWE में कुछ मूव्स बैन हो गए हैं. जैसे कि कुर्सी का सिर में मारना इत्यादि.
  • WWE के नियम के मुताबिक फाइट के दौरान रेसलर की कभी भी पिटाई हो सकती है. इसलिए उसे और भी चौकन्ना रहना पड़ता है.
  • डब्लू डब्लू ई को पहले WWF के नाम से जाना जाता था. लेकिन 2002 में इसका नाम बदलकर WWE रखा गया था.
  • डब्लू डब्लू ई के अंतर्राष्ट्रीय कार्यालय (International Office) लंदन और टोरंटो दोनों स्थानों पर हैं.
  • क्या आपको पता है कि डब्लू डब्लू ई के रिंग के नीचे माइक लगाया जाता है ताकि रेसलर्स की आवाज़ सुनाई दी जाए.
  • डब्ल्यू डब्ल्यू ई यूनाइटेड स्टेटस्‌ चैंपियनशिप का निर्माण सन् 1975 में किया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.