You can find out by stoning this mountain that there is a boy in the womb of the woman, know the truth

इस पहाड़ पर पत्थर मारने से आप पता लगा सकते हैं, कि महिला के पेट में लड़का है लड़की जानिए क्या है सच्चाई

दोस्तों, जैसा कि आप सभी जानते हैं आजकल लोग लड़का लड़की में कोई फर्क नहीं करते लेकिन ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो लड़कियों से आज भी नफरत करते हैं और वह बच्चा पैदा करने से पहले ही जाना चाहते हैं, कि महिला के पेट में लड़का है लड़की इसके लिए वह तरह तरह के उपाय भी करते हैं और डॉक्टरों से भी सलाह लेते हैं लेकिन डॉक्टर उन्हें मना कर देते हैं.

तो वह अंधविश्वास अनपढ़ जाते हैं आज हम आपको एक ऐसे ही गांव के बारे में बताने वाले हैं जहां पर लोगों का मानना है कि अगर आप इस पहाड़ पर पत्थर मारेंगे तो आप पता लगा सकते हैं कि महिला के पेट में लड़का है या लड़की इसके बारे में क्या सच्चाई है तो चलिए आपको हम बताते हैं।

दोस्त हम बात कर रहे हैं,

भारत के झारखंड राज्य में स्थित एक ऐसा पहाड़ी है जहां पर पत्थर फेंकने से मालूम चलता है कि पेट में लड़का है या लड़की या बात सुनकर आपको हैरानी होगी लेकिन या बिल्कुल सच है।

इस पहाड़ी की महिमा दूर-दूर तक फैली हुई है और लाखों की संख्या में लोग यहां पर आते हैं जानने के लिए की पेट में लड़का है या लड़की।

यह परंपरा बहुत ही प्राचीन है और जिसका पालन लोग आज भी कर रहे हैं।

ऐसा कहा जाता है कि इस पहाड़ी के ऊपर चांद आकार की आकृति बनी हुई है जिस पर लोग पत्थर मारकर या मालूम करते हैं कि लड़का होगा या लड़की।

यहां पर गर्भवती महिलाओं को पहाड़ी के ऊपर एक छोर पर खड़ा कर दिया जाता है और उनको चांद आकार की आकृति जहां बनी हुई है वहां पत्थर फेंकना होता है।

जब महिलाएं पत्थर फेंकते हैं तो अगर पत्थर चांद आकार के आकृति के बीच में लगती है तो लड़का होगा और चांद आकार आकृति के बाहर बाहर लगता है तो लड़की होगी।

स्थानीय लोगों का कहना है कि अगर उन्हें यह बात मालूम चल जाता है कि लड़का और लड़की तो इसमें बुराई क्या है।

इस प्रकार हम कह सकते हैं कि पहाड़ी के परंपरा अजीब और अनोखी भी है लेकिन लोगों को इसके प्रति श्रद्धा को भी भुलाया नहीं जा सकता है।

अगर आपको भी यह बात मालूम करना है कि लड़का या लड़की तो आप भी हां जा सकते हैं लेकिन आपका निजी सोच होगा और आप जो भी करें सोच विचार के करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.