अगर नॉर्मल डिलीवरी चाहते है तो प्रेग्नेंसी के दौरान जरूर करें ये योगासन

हम सभी जानते है कि गर्भावस्था किसी भी महिला के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण समय होता है। ये वो समय होता है जब एक महिला सिर्फ अपने बारे में ही नहीं सोच सकती। खाते पीते, उठते बैठते उसे अपने से पहले अपने बच्चे के बारे में सोचना होता है। दोस्तों एक बच्चे को जन्म देने के दो तरीके होते है पहला नार्मल डिलीवरी दूसरा सिजेरियन डिलीवरी। नॉर्मल डिलीवरी के अपने फायदे होते है जैसे कि आप जन्म देने के बाद बच्चे को अच्छे से संभाल सकती है।

अपने खान पान पर विशेष ध्यान दे सकती है और चल फिर भी सकती है। तो अगर आप गर्भवस्था से गुजर रही है और चाहती है कि आपकी डिलीवरी नार्मल हो तो आपको कुछ विशेष ध्यान रखने होंगे। वैसे प्रेग्नेंसी के दौरान लगभग हर महिला यही चाहती है कि उसकी नार्मल डिलीवरी ही हो परन्तु कभी-कभी कुछ शारीरिक परेशानियों का सेहत से जुडी दिक्कतों की वजह से डॉक्टरों को सिजेरियन डिलीवरी या सी सेक्शन की डिलीवरी करानी पड़ती है. गर्भावस्था के दौरान यदि महिला शरीर सेहतमंद हो तो इन दिक्कतों से खुद को बचाया जा सकता है. आज हम आपके साथ कुछ योगासन शेयर करेंगे जो ना सिर्फ शरीर को स्वस्थ रखने में सहायक है बल्कि ये आसन गर्भवती महिला को शरीर में होने वाले लेबर पेन के लिए भी तैयार करता है.

इस तरह के आसनों से न केवल हमारे पेल्विक मसल्‍स मजबूत होते हैं बल्कि डिलीवरी भी नॉर्मल होती है. इतना ही नहीं प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले दर्द में भी इस तरह के आसन राहत देते हैं और गर्भवती महिला को नींद भी अच्छी आती है.

मालासन द्वारा अपनी प्रेगनेंसी को बनाये सेहतमंद:

जो महिलाये नॉर्मल डिलीवरी की इच्छुक है उनके लिए ये आसन सबसे ज्यादा उपयुक्त है. दूसरी तिमाही से आप इसे शुरू कर सकती है। अधिक जानकारी के लिए आप अपनी गायनोलॉजिस्ट से संपर्क कर सकती है।

स्टैंडिंग स्क्वाट्स:

यह खड़े होकर किये जाने वाला आसन है. आप इस आसन को 10-20 बार कर सकती है. ये आपकी पेल्विक मसल्स को मजबूत बनाता हैं. ये आसन शुरुआत में कम बार करना चाहिए फिर धीरे धीरे इसे बढ़ाते रहें।

सेहतमंद डिलीवरी के लिए करें बद्धकोणासन:

दोस्तों नेचुलर या नार्मल डिलीवरी के लिए ये आसन बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है. इस तरह के आसन को प्रेग्नेंसी या गर्भावस्था की पहली तिमाही से आप शुरू कर सकती है. इस आसन को तीन माह से लेकर पूरे 9 महीने तक भी किया जा सकता है. परन्तु आपको यदि कोई कॉम्प्लीकेशन्स है तो पहले अपनी डॉक्टर से अवश्य संपर्क करें।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *