अटल सुरंग की लंबाई कितनी है? जानिए

अटल सुरंग लम्बाई 9.02 किलोमीटर, लेह और मनाली के बीच सड़क सम्पर्क स्थापित करती है. मनाली और केलोंग के बीच 3–4 घंटे कि यात्रा कम करती है. पीर पंजल पार्वत श्रंखला में स्थिति. हिमाचल प्रदेश में रोहतांग दर्रे को पार करने के लिए बनी है. जम्मू कश्मीर और लेह लद्दाख को जोड़ने का वैकल्पिक मार्ग. 13.10.2020 को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा निर्माण कराकर देश को समर्पित. चिंता सीमा पर डटे सिपाहियों और फ़ौज हेतु सामग्री पहुंचने और सम्पर्क रखने में बहुत लाभदायक. यह अटल बिहारी कि सरकार का सपनस था जिसे अब पुरा किया जा सका.

श्यामाप्रसाद मुख़र्जी टनल. इसे चेनानी नासारी सुरंग भी कहते है. यह जम्मू श्रीनगर के बीच 30 किलोमीटर दुरी कम करती है और 2 घंटे कि यात्रा कम करती है.पहले nh 1 पर और अबके nh 44 पर स्थिति है. इस पर काम 2011 में शुरू हुआ और 2017 में पुरा हो गया था. श्यामाप्रसाद मुखर्जी श्रीनगर जेल में ही शहीद हो गए थे भारत कि आजादी के समय ही.

जवाहर सुरंग : इसे बनिहाल. पास भी कहते है. इसकी लम्बाई 2.85 किलोमीटर है यह जम्मू से श्रीनगर को जोड़ने वाले राजमार्ग पर ही बनी है. यह 2956 में ही बनकर तैयार हो गयी थी सूर वन लाने ट्रैगिक के लोए खुली है. अब काज़ीगूंड बनिहाल टनल कुल लम्बीयी 8.5 किलोमीटर भी बनकर तस्ययार है और दो लेन टनल है ट्रैफ़िक्र लगातार फोनो तरफ से चलता रहेगा.

जोजिला सुरंग : यह 14.5 किलोलम्बी प्रस्तावित है श्रीनगर घाटी और लेह घाटी के बीच बारहमसी सम्पर्क हेतु बनाई जा रही है. जोजिला सोनमर्ग से 25 किलोमीटर फुर है. इस पर कार्य शुरू हो गया है. इसकी प्रस्तावित लागत 6800 कतोड़ रुपये है. यह सोनमर्ग और द्रास के विच बनेगी. बालतल सोनमर्ग पर पश्चिमी और मिनमार्ग जोजिला पर पूर्वी पोर्टल बनना प्रस्तावित है. 2026 तक सुरंग बनकर तैयार हो जाएगी. अभी तक यहां साथ आठ महीना सड़क सम्पर्क श्रीनगर और कारगिल के बीच टुटा रहता है. यह सबसे लम्बी सड़क सुरंग है भारत कि.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *