आप विराट कोहली और स्टीव स्मिथ में किस बल्लेबाज को बेहतर मानते हैं? जानिए

भारत के विराट कोहली और ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ यह दोनो भी महान बल्लेबाज है। इन दोनो में सबसे बेहतर कौन है यह निरंतर बहस का मुद्दा है। मै यह स्पष्ट करना चाहता हूं की यह दोनो मेरे पसंदीदा बल्लेबाज है। इन दोनों के प्रतिभा का और क्रिकेट के लिये कमिटमेंट का मै आदर करता हू। फिर भी अगर इन दोनो में एक बल्लेबाज का चयन करना हो तो मै विराट कोहली का चयन करूंगा।

विराट के आने के बाद भारतीय टीम का स्वभाव ही बदल गया। भारतीय टीम टार्गेट चेस करने में पिछले कई सालो में बार-बार सफल रही है उसका श्रेय मैं ‘विराट कोहली स्कुल ऑफ बॅटिंग को दुंगा’ इस बॅटिंग की नीव धोनी और युवराज जोडीनें रखी। विराट ने इसको बडी इमारत बना दिया है. लिमिटेट ओव्हर क्रिकेट में टार्गेट कितना भी बडा हों उसे चेस करने में विराट जैसा योग्य बल्लेबाज इस बार पुरे विश्व में नही है।

१३० करोड भारतीयों के आकांक्षा का बोझ अपने कंधो पर रखकर खेलना आसान बात नही है। सचिन तेंडुलकर ने २४ साल यह बोझ उठाया. विराट अब वही काम कर रहे हैें। वन-डे, टेस्ट, टी-२० या फिर आयपीएल क्रिकेट के सभी फॉरमॅट में विराट सर्वोच्च प्रदर्शन करते है। इस हर प्रकार के क्रिकेट में उनके रन्स और औसत लाजवाब है। इसिलिये विराट को रनमशिन माना जाता है।

विराट सिर्फ रनमशिन का काम नही करते. वो टीम की कप्तानी भी करते है। बतौर कप्तान वो हमेशा ‘Leading From The Front’ का रोल निभाते है। कप्तानी का बोझ कई खिलाडी के लिए सरदर्द साबित हुआ। सचिन तेंडुलकर इसका सर्वश्रेष्ठ उदाहरण है। विराट ने कप्तानी की जिम्मेदारी सहजता सें निभायी है। रोहित शर्मा हो या जसप्रीत बुमराह…के.एल. राहुल हो या कुलदीप चहल भारत के हर युवा प्रतिभाशाली खिलाडीयोंको विराट ने हमेशा प्रोत्साहित किया है। महेंद्र सिंह धोनी जैसे सिनियर खिलाडी का भी विराट आदर करते है। मैदान में उनसे सलाह-मश्वरा करने में विराट कभी भी झिझकते नहीं. सबसे अहम बात विराट के करियर को स्मिथ जैसे बॉल टेंम्परिंग जैसा का कोई डाग नही लगा है।

स्टीव स्मिथ भी एक महान खिलाडी है. लेकीन पिछले कई सालों से उनके महान खेल का प्रदर्शन टेस्ट क्रिकेट में ही बार-बार दिखायी देता है। २०१९ के अँशेस में स्मिथने अविश्वसीय बॅटिंग का प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलिया को एशेज सीरिज जीता दी।

स्मिथ भी विराट की तरह बेहतरीन फिल्डर हैं. क्रिकेट के लिए पुरे कमिटेड और टीम के लिए सौ प्रतिशत योगदान हमेशा देते है। लेकीन वन-डे, टी-२० और आयपीएल में आकडों के लिहाज से वह विराट से काफी पीछे हैं।

स्मिथ के करीअर को बॉल टेंम्परिंग का बहुत बडा धब्बा लगा है। दक्षिण आफ्रिका के खिलाफ के टेस्ट सीरिज में वह कप्तान थे। स्मिथ बतौर कप्तान वह बॉल टेम्परिंग रोकने में नाकाम रहे. इसके लिए उनपर एक साल की पाबंदी भी लगी थी। इस पाबंदी के बाद, सभी प्रकार की मानसिक पीडा सहन करने के बाद स्मिथ ने जोरदार कमबॅक किया इसके लिए उनकी तारीफ करनी चाहिये। लेकीन अभी भी वन-डे, टी-२० और आयपीएल में वह आज विराट से कई पायदान पीछे है।

विराट ने बतौर कप्तान ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरिज जीती है। स्मिथ बतौर कप्तान भारत में टेस्ट सीरज जीतने में नाकाम रहे है। विराट कोहली के कप्तानी में टीम इंडिया ने टेस्ट मे नंबर १ का रँकिग हासील किया. स्मिथ के कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया की रँकीग गिरती गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.