इस्राइल और फिलिस्तीन में नया विवाद क्या है? जानिए

इजरायल के सेंट्रल कोर्ट ने 4 फलिस्तिनी परिवारों को शेख जर्राह से निकालने का आदेश दिया है और उनकी जगह दक्षिणपंथी इजरायली लोगों को बसाने को कहा। ( अभी कुछ माहौल शांत था)

रोजा तोड़ने के लिए फिलीस्तीनी पुराने शहर के दमिश्क गेट पर इकट्ठा होते हैं, उन्हें रोकने के लिए इजराइल पुलिस ने वहां बैरियर लगा दिया। इस बैरिकेडिंग को फलिस्तिनियों ने उखाड़ फेंका।

रमजान के आखिरी शुक्रवार को अल अक्सा मस्जिद में लोग नमाज़ के लिए जमा हुए थे। इजरायल का आरोप है कि पहले फलिस्तिनियों ने पत्थर फेंका , वहीं दूसरे पक्ष का आरोप है कि पहले इजराइली पुलिस ने आंसू के गोले और स्टन ग्रेनेड फायर किए।

इसके बाद प्रतिबंधित ग्रुप हमास जो कि गाजा पट्टी पर शासन करता है उसने इजरायल की तरफ राकेट लांच किए, फिर इजरायल ने भी हमला किया। इस तरह हिंसा फैलने लगी।

इसराइल सुरक्षाबलों और हमास के बीच लड़ाई छिड़ी हुई है। हमास लगातार तेल अवीव पर राकेट से हमला कर रहा है और इजरायल हमास के ठिकानों पर निशाना साध रहा है। इजरायल ने इमरजेंसी घोषित कर दी है और वहां गृहयुद्ध की भी संभावना जताई जा रही है।

इसरायल के खिलाफ मुस्लिम देशों की तरफ से कड़ी प्रतिक्रिया आ रही है। तुर्की और पाकिस्तान लगातार इजराइल के खिलाफ बोल रहे हैं और 57 मुस्लिम देशों को इजरायल के खिलाफ खड़े होने की अपील कर रहे हैं।

तुर्की ने रुस से भी इजरायल को सबक सिखाने को कहा है। अगर ऐसा होता है तो रुस, तुर्की, चीन एक तरफ आ सकते हैं उधर अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस एक तरफ हो सकते हैं। तृतीय विश्व युद्ध का पूरा माहौल बन रहा है। देखिए आगे क्या होता है क्योंकि दोनों पक्ष इस बार उग्र हो चुके हैं । कोई भी झुकने को तैयार नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.