कैसे करें अपनी Google सर्च हिस्ट्री को डिलीट, कहाँ स्टोर होती है आपकी एक्टिविटी?

आप गूगल पर ऐसी बातें सर्च करते हैं, जिन्हें आप डिलीट करना चाहते हैं. लेकिन आपको अपनी सर्च हिस्ट्री डिलीट या मैनेज करने का तरीका पता नहीं होता. गूगल पर आपने कब क्या सर्च किया है उसे देख सकते हैं. आप चाहें तो इस डेटा को डिलीट भी कर सकते हैं. आपके सर्च के आधारा पर ही गूगल आपको दूसरे सर्च रिज़ल्ट्स भी दिखाता है. आज हम आपको गूगल सर्च हिस्ट्री ऐक्सेस करने और इसे डिलीट करने का तरीका बता रहे है

तरीका :-

सबसे पहले आपको गूगल एक्टिविटी ( https://myactivity.google.com/ )
कंट्रोल पेज को ओपन करना होगा. पेज ओपन होने के बाद आपको अपने गूगल अकाउंट से साइन-इन करना होगा.
यहां कई ऑप्शन्स होंगे जिसमें मन पेज पर My Activity दिखेगा.

  • अब आपके नीचे सर्च क्वेरीज और रिजल्ट्स दिखाई देंगे.
    इशके लेफ्ट में आईटम व्यू और बंडल व्यू का ऑप्शन दिखेगा. आईटम व्यू में आपकी ऐक्टिविटी एक एक करके दिखेगी, वहीं बंडल व्यू में आप कैटिगरी के हिसाब से अपनी सर्च एक्टिविटी देख सकते हैं.
    सबसे ऊपर एक सर्च बॉक्स है जहां आप अपनी ऐक्टिविटी सर्च कर सकते हैं.
    इसके साइड में आपको तीन डॉट नजर आएंगे. जिसे हैमबर्गर आइकॉन भी कहते हैं.
    इस विकल्प को क्लिक करने के बाद आप डेट के हिसाब से ऐक्टिविटीज डिलीट कर सकते हैं।
    यहां पर अब आप ऑटो डिलीट एक्टिविटीज ओल्डर देन 3 मंथ या फिर ऑटो डिलीट एक्टिविटीज ओल्डर देन 18 मंथ वाले विकल्प पर क्लिक करें. इसके बाद नेक्स्ट वाले बटन पर टैप करें.
    यहां आपको Delete Activity By का ऑप्शन मिलेगा. इसे क्लिक करके आपको गूगल की हर सर्विस की लिस्ट दी जाएगी.
    इन जगहों पर आपकी कुछ ऐक्टिविटी रिकॉर्ड होती हैं. आप चाहें तो सेलेक्ट करके इन्हें हर जगह से डिलीट कर सकते हैं.
    आपकी ऐक्टिविटी सभी जगहों से डिलीट हो जाएगी.
    अगर आप नहीं चाहते कि गूगल आपकी एक्टिविटीज को ट्रैक या फिर रिकॉर्ड करे, तो आपको यहां पर वेब ऐंड ऐप एक्टिविटी वाले टॉगल को डिसेबल करना होगा.
    इसी तरह के आपको स्क्रॉल डाउन करने के बाद नीचे लोकेशन हिस्ट्री और यूट्यूब हिस्ट्री वाले टॉगल को डिसेबल करना होगा.
    इस तरीके से आप गूगल को हमेशा के लिए लोकेशन हिस्ट्री, वेब एक्टिविटीज, यूट्यूब सर्च आदि को ट्रैक करने से रोक सकते हैं. हालांकि आपको यह भी ध्यान रखना होगा कि इस प्रक्रिया के बाद गूगल पर पर्सनलाइज्ड एक्सपीरियंस कम हो जाएगा यानी गूगल सर्च के हिसाब से मिलती-जुलती चीजों को रेकमंड करता है, जो आपको इस प्रक्रिया के बाद नहीं होगा.
    आपको बता दें कि ऐसा करने के बाद आप सिर्फ अपने फोन की हिस्ट्री या ऐक्टिविटी डिलीट कर रहे हैं. ये सिर्फ आपके अकाउंट से डिलीट की जा रही हैं. गूगल के सर्वर पर अभी भी आपकी एक्टिविटी स्टोर रहेगी.

डिलीट के बाद भी यहां स्टोर होती है आपकी एक्टिविटी :-

जब आप अपने गूगल अकाउंट से ऐक्टिविटी या सर्च हिस्ट्री डिलीट करते हैं तो उसके बाद गूगल अपना काम शुरु करता है. गूगल के मुताबिक यूजर के द्वारा सर्च हिस्ट्री डिलीट होने के बाद कंपनी भी अपने स्टोरेज से कुछ डेटा डिलीट कर देती है.

हालांकि गूगल आपका कुछ डेटा डिलीट करने के बाद भी हमेशा के लिए स्टोर रखता है. आपकी सर्च हिस्ट्री डिलीट होने के बाद भी गूगल इस बात का डेटा रखता है कि आपने कौन कौन से दिन क्या डेटा सर्च किया है. गूगल का कहना है कि कंपनी बिजनेस पॉलिसी के लिए भी ऐक्टिविटी स्टोर की जाती है. इसका मतलब है कि अगर आप अपनी सर्च हिस्ट्री को किसी तरह मैनेज कर लेते हैं तो भी आपकी सर्च की गई इंफॉर्मेशन गूगल के सर्वर पर स्टोर हो जाती है, जिसे किसी खास परिस्थिति में देखा भी जा सकता है.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *