क्या कारण है कि क्रिकेट खेलना सभी बच्चों, युवाओं और बड़ों को पसंद है लेकिन फुटबॉल या हॉकी नहीं?

इसमें हमारे देश के मीडिया के प्रचार का बहुत हाथ है। क्रिकेटर को बड़ा सेलिब्रिटी बना दिया है। वास्तविकता में यह वेहलों (खाली) लोगों का खेल है।

पहले पांच दिवसीय क्रिकेट होती थी। फिर एक दिवसीय पर आये। अब 20–20 हो गया है। बीसीसीआई दुनिया का सबसे अमीर बोर्ड है। चारों तरफ से पैसा बरसता है। इस पैसे की चकाचौंध ने सब को आकर्षित किया हुआ है।

फुटबॉल और हाकी में इतना पैसा नहीं है। लोग राष्ट्रीय टीम के कप्तान का नाम भी नहीं जानते। जो देश कभी ओलम्पिक चैम्पियन हुआ करता था आज क्वालिफाई भी करना मुश्किल हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.