क्यों चीन और अमेरिका देश के लोग क्रिकेट नहीं खेलते ? जानिए कारण

यह सच है कि छोटे – छोटे देश क्रिकेट खेलते हैं, परंतु अमेरिका, चीन, जापान, फ्रांस, और रूस जैसे देश क्रिकेट नहीं खेलते हैं या बहुत कम खेलते हैं, आइए जानते हैं ऐसा क्यों है-

भारत में क्रिकेट काफी लोकप्रिय खेल है हम कह सकते हैं कि भारत में क्रिकेट सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है, लेकिन बहुत से महाशक्ति देश जैसे अमेरिका, चीन, जापान, फ्रांस आदि देश क्रिकेट नहीं खेलते हैं, ऐसा नहीं है कि इन देशों में लोग खेल नहीं खेलते हैं बल्कि इन देशों में सिर्फ क्रिकेट को छोड़कर बाकी खेलों को ज्यादा पसंद किया जाता है, जब भी ओलंपिक जैसे बड़े खेल होते हैं उनमें सबसे आगे अमेरिका और चीन ही होते है, मेडल जीतने वाले देशों में यह टॉप पर होते हैं

अमेरिका में कुश्ती, बेसबॉल, रेसिंग जैसे खेलों को काफी पसंद किया जाता है, हालांकि अमेरिका में कई बार अंतर्राष्ट्रीय मैच आयोजित किए जा चुके हैं, परंतु अमेरिका में क्रिकेट को इतनी लोकप्रियता नहीं मिली जितनी मिलनी चाहिए, एशिया में भारत के अलावा पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका और अफगानिस्तान जैसे देशों में क्रिकेट बहुत फलफूल रहा है

हालांकि संयुक्त राज्य अमेरिका में ओलंपिक जैसे खेलों को ज्यादा प्रोत्साहित किया जाता है इसलिए अमेरिका में क्रिकेट अभी ज्यादा नहीं खेला जाता है, इसके पीछे एक वजह यह भी है क्योंकि क्रिकेट ओलंपिक का हिस्सा नहीं है

अगर हम वर्तमान समय की बात करें तो अमेरिका क्रिकेट में आने के लिए उत्सुकता दिखा रहा है, उन्होंने अपनी राष्ट्रीय क्रिकेट टीम भी बना रखी है, क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए कई बड़ी टीमें अमेरिका में क्रिकेट खेल चुकी हैं, फिलहाल अमेरिका ने डब्ल्यूडब्ल्यूई के सुपरस्टार जॉन सीना को अमेरिकन क्रिकेट एसोसिएशन का ब्रांड एंबेस्डर बनाया गया है,

Leave a Reply

Your email address will not be published.