Why are there a lot of male skeletons in this lake?

क्यों पाए जाते हैं इस झील में नर कंकालो के ढेर वजह जानकार चौंक जाएंगे आप

दोस्तों तिब्बत की सीमा के पास महान हिमालय की चोटियों में छिपी है एक बेहद रहस्यमई झील” जो अपने किनारे पर पाए जाने वाले 500 से भी ज्यादा नर
कंकालो के लिए प्रसिद्ध है यह जगह पूरी तरह से निर्जन है और हिमालय पर 500 मीटर से भी ऊपर अर्थात ऊंचाई पर मौजूद है साल भर यह झील बर्फ से जमी रहती है पर सबसे गर्म महीने में यह पिघल जाती है जिसके बाद इस झील की तली में मानव कंकाल दिखने शुरू हो जाते हैं

जिन्हें झील के आसपास देखा जा सकता है यह मानव कंकाल सालों से इस झील में यूं ही अनजान पड़े हुए थे जब तक की 1942 ई में उन्हें खोज नहीं लिया गया जब वन निगम के कर्मचारी एक दुर्लभ फूल की खोज में यहां आए थे झील के अंदर जाने पर उन्हें नर कंकालो का ढेर मिला जिसके बाद दुनियाभर के खोजकर्ता इन सवालों के जवाब ढूंढने में लग गए कि यह नर कंकालो के ढेर यहां कैसे आए शोधकर्ताओं को किए गए खोज में से कहीं और नई चीजें इन कंकालो के पास में मिली।

जिनमें प्राचीन लकड़ी लोहे से बने हथियार गहने और चमड़े से बने जूते शामिल थे और सबसे हैरान कर देने वाली चीज की इन के पास नाखून बालों और मास के अवशेष प्राप्त हुए जो मानव के थे जिनसे अनुमान लगाया गया कि यह कंकाल कुछ ही दशक पुराने रहे होंगे जब इंकन कालों के सैंपल को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी लंदन भेजा गया तो कार्बन डेटिंग जांच से पता लगा कि यह कंकाल 1200 साल पुराने थे
चौंकाने वाली बात यह थी कि इतने सालों बाद भी ये नर कंकाल नाखून और मांस के टुकड़े इस कठोर वातावरण में इतने सालों तक कैसे बचे हुए थे यहां की किवदंतीयो के हिसाब से प्राचीन समय में तीर्थ यात्रा पर निकले कन्नौज के राजा रानी और उनके नौकरों के समूह के हैं जो कभी यहां से होकर गुजरे थे लेकिन अचानक से आई एक की ओलों की आंधी ने इस समूह की जान ले ली

खोज कर्ताओं ने बताया कि वह आकार में एक गेंद जितने बड़े होंगे 2013 में आगे हुए शोध में वैज्ञानिकों ने पता लगाया कि इन लोगों की मौत सिर और गर्दन पर किसी नुकीली चीज से चोट लगने की वजह से हुई थी यह शोध काफी हद तक सही साबित होता है क्योंकि कंकालो के सिर कंधे पर गहरी चोट के निशान थे.

परंतु यह निशान कंधों पर ही थे बाकी जगह पर कोई निशान नहीं था हैरान करने वाली बात थी कि उन लोगों ने अपने बचाव में अपने हाथों का प्रयोग लिया होगा परंतु उनके हाथों पर किसी भी चोट के निशान नहीं थे इन सभी कारणों से आज तक इस झील के पास मिले इन 500 नर कंकालो की मौत का राज अनसुलझा है.

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published.