गन्ने के रस से स्वास्थ्य को मिलने वाले चमत्कारी फायदे

गन्ने का ज्यूस गरमियो में पिणे से ठंडक मिलती है. बल्की इस के औषधीय गुण के कारण स्वास्थ्य की रक्षा होती है. गन्ना दातो से लेकर कैन्सर जैसी बिमारी से बचा सकता है इस के अंदर पोषक तत्व होते है. जो शरीर को लाभ देने में सफलता मिलती है. गन्ने का इस्तमाल पिलिया, त्वचा, मूत्र रोग, बदहजमी मधुमेह, वजन कम करे, रोग प्रतिकार शक्ती बढाये, बुखार, नाखून, मुहासे इन सभी रोगो से चमत्कारी फायदे मिलते है.

शरीर में हमेशा के लिये उर्जा बनाये रखने के लिये कार्बोहाइड्रेट्स नाम के तत्व की जरुरत होती है. यह कार्बोहाइड्रेट्स गन्ने के ज्यूस में पाया जाता है. इसलिये गन्ने का ज्यूस पिणे से शरीर में उर्जा बनी रेहती है. अन्य ड्रिंक की तुलना में गन्ना एक अच्छा ज्यूस है.

पिलिया जैसी बिमारी में गन्ने का रस बढा फायदेमंद माना जाता है. युनानी चिकित्सा अनुसार गन्ने का ज्यूस पिलिया के लिये तुरंत मदत करता है. लिवर की कार्यप्रणाली यांनी रुकावट पिलिया होणा शरीर में बिलीरुबिन अधिक बढ़ जाणा यह बिलीरुबिन जब पिला बनता है. उसे ही पिलिया कहते है. इसे कम करणे के लिये रोजाना 21 दिन ताजा गन्ने का रस खाली पेट पिणे से पिलिया कम होने लगता है.

वजन बढने से बहुत सारे लोग परेशान है अगर एैसे लोग वजन कम करना चाहते है. तो एैसे लोगो को गन्ने का रस पिना चाहीये नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन द्वारा प्रकाशित एक शोध में पता चला है की गन्ना फायबर युक्त है. वजन कम करणे के साथ साथ लिपिड को नियंत्रित करता है और ग्लूकोज को तोड़कर उर्जा बनाता है.

गन्ने के रस सेवन से टॉन्सिल्स जैसी बिमारी में फायदा मिलता है. जब टॉन्सिल्स यांनी गले में सुजन और दर्द होने लगता है इसे कम करणे के लिये गन्ने का ज्यूस सेवन करणे से जुखाम, फ्लु जैसी बिमारी ठीक होती है और टॉन्सिल्स जैसी समस्या तुरंत ठीक होती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.