घर से सांप भगाने का तरीका क्या है? जानिए

सांप यूं भी शर्मीला प्राणी होता है। अंधेरे में निकलता है। हमारी आहट सुनते ही सर्र से अपनी राह ले लेता है।

खतरा तभी होता है , जब आप उसके बिल में हाथ डालें, अंधेरे में उस पर पैर रख दें। उसके छुपने की जगह में बिना देखे हाथ डाल दें।

घर के अगल- बगल नालियों आदि के आस- पास कार्बोलिक एसिड का छिड़काव करें । घर में सांप घुस जाए तो मिट्टी तेल, फिनाइल, या ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव करें। गन्ध से सांप भाग जाएगा। यूं भी इनसे पोंछा लगाने से फर्श में इनकी गन्ध बनी रहती है। चीटियाँ और कीड़े – मकोड़े नहीं आते। सांप चूहे ,मेढ़क , दादुर की तलाश में रहते हैं। जिन्हें घर से दूर रखने पर सांप भी नहीं आएंगे।

साल भर पहले मैं जहाँ रह रही थी, आए दिन सांप टहलते नजर आ जाते थे। किसी की पूंछ ही 3 फुट की , तो कोई 6- 7 फुट लम्बा काला सांप । सांप काटने की घटना तो एक भी नहीं सुनी। हाँ, लोग सांप मारने में देर नहीं लगाते थे।

दफ्तर के प्रांगण में नाग का जोड़ा रहता था। कई बार उसके नन्हे – मुन्ने बच्चे रात को दफ्तर में प्रवेश कर गए , और जान से हाथ धो बैठे।

जबकि सांप बहुत ही सभ्य प्राणी है। शाम के धुंधलके में रास्ते पर चलते हुए 10 फुट लम्बा काला सांप मेरे पैरों से एकाध इंच की दूरी से गुजर गया। वह तेजी से सड़क पार कर रहा था। मुझ पर उसने ध्यान ही नहीं दिया।

वे मानव के अस्तित्व के आदी हो गए हैं। पर हम नहीं, हमें भी उनकी उपस्थिति स्वीकार लेनी चाहिए । सांप को मारे नहीं, वह अपने रास्ते चला जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.