घोस्ट टाउन – एक डर की वजह से रातोंरात खाली हो गया था यह शहर

कोई बसा-बसाया शहर अचानक ही रातोंरात खाली हो जाए, यह सुनने में बड़ा अजीब लगता है, लेकिन आज से 58 साल पहले अमेरिका में कुछ ऐसा ही हो चुका है। यहां के पेन्सिलवेनिया में स्थित सेंट्रालिया टाउन को रातोंरात खाली करा लिया गया था। अगर ऐसा नहीं किया जाता तो शायद यहां रहने वाले लोग मारे जाते। अब यह शहर लगभग वीरान हो चुका है और इस वजह से यह ‘घोस्ट टाउन’ के नाम से मशहूर हो गया है। हालांकि यहां लोग घूमने के लिए अक्सर आते रहते हैं, लेकिन जगह-जगह बोर्ड लगाकर उन्हें इस शहर में होने वाले खतरों से आगाह किया गया है।

दरअसल, यहां जमीन के नीचे भयंकर आग लगी हुई है, जो 58 साल से लगातार जल रही है। सेंट्रालिया का यही रहस्य दुनियाभर के लोगों को आकर्षित करता है। कभी इस शहर में 1400 के करीब लोग रहते थे, लेकिन 2017 तक यहां सिर्फ पांच लोग ही बच गए थे।

‘घोस्ट टाउन’ के नाम से जाना जाने वाला सेंट्रालिया कभी कोयले की खदानों के लिए मशहूर था, लेकिन बताया जाता है कि साल 1962 में शहर के आसपास फैले कचरे में आग लग गई थी, जिसके बाद वो आग धीरे-धीरे जमीन के नीचे मौजूद कोयले की खदानों तक जा पहुंची। जमीन के नीचे लगातार बढ़ती आग की वजह से शहर में कार्बन-मोनोक्साइड जैसी कई जहरीली गैसें फैलने लगीं। इस वजह से शहर में रह रहे लोगों ने ये जगह छोड़ दी और दूसरी जगह चले गए।

विशेषज्ञों की मानें तो सेंट्रालिया में जमीन के नीचे अभी भी इतना कोयला मौजूद है कि ये जगह करीब 250 साल तक लगातार जलती रहेगी। इस आग की वजह से यहां की सड़कें गल गई हैं और जगह-जगह गड्ढे बन गए हैं, जिनसे धुआं निकलते रहता है।

ऐसा नहीं है कि अमेरिकी सरकार ने जमीन के नीचे लगी इस आग को बुझाने के बारे में नहीं सोचा। लेकिन इसमें अरबों रुपये खर्च हो जाते। इस वजह से सरकार ने सेंट्रालिया की आग बुझाने के बजाय यहां के लोगों को दूसरे शहरों में बसाना ही ठीक समझा.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *