जानिए आंवले का मुरब्बा घर पर कैसे बनाएं बाजार जैसा

आंवला हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ज्यादा लाभदायक होता है। आंवले को खाने से हमारे शरीर की सभी बीमारियां दूर होने लगती हैं और आंवले में विटामिन सी बहुत ज्यादा होता है जो हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है तो इसीलिए आज हम आपके लिए आंवले का मुरब्बा लेकर आए हैं जिसको खाने के बाद आपका इम्यून सिस्टम बहुत ज्यादा मजबूत हो जाएगा तो चलिए चलते हैं।

आंवला 1 किलो, छोटी इलायची के दाने 10 ग्राम, पानी 25 ग्राम, चीनी 1 किलो, चूना 25 ग्राम
मुरब्बे के लिए आप जिन आंवले का चुनाव करें वे सभी बेदाग और हरे होने चाहिए। मुरब्बे की प्रारंभिक विधि में पहले पानी में चूना डालें और फिर चूने के पानी में सभी आंवलो को डाल दें।
कम से कम 24 घंटों के लिए आंवलो को चूने के पानी में ही पड़े रहने दें। फिर उन्हें निकालें और साफ पानी में कम से कम 5 से 10 मिनट तक खूब धोऐं और साफ सूती कपड़े से उन्हें अच्छी तरह पोंछ लें।
अगली क्रिया में किसी स्टील आदि के बर्तन में पहले पानी डालें और आग पर चढ़ा दें। जब पानी खूब गर्म हो जाए तो आंवलो को उसमें डाल दें जब 4 या 5 उवाला आ जाएं तो उन्हें पानी में से निकाल लें और कपड़े आदि से पोंछकर उन्हें कांटे वाली चम्मच या बारीक छूरी से अच्छी तरह गोद लें।
उसके बाद किसी बर्तन में चीनी की एक तार की चाशनी बनाएं। जब चासनी तैयार हो जाए तो उसमें आंवलों को डालकर आग पर पकने दें। आंवले चासनी में जब अच्छी तरह से पक जाएं, तो उन्हें आग पर से उतार लें और ठंडे होने दें। अच्छी तरह ठंडा हो जाने पर इन्हें साफ सूखे और दुर्गंध रहित डब्बे में भर दें। उसके बाद छोटी इलायची के दानों को बारीक बारीक पीसकर डब्बा में आंवलों के ऊपर छिड़क दें। आंवले का मुरब्बा अब तैयार है चाहे आप इसी समय से खाना शुरु कर दें।
आंवले का मुरब्बा बनाने की दूसरी विधि

आंवले 2 किलो, चूना 50 से 60 ग्राम, चीनी 2 किलो, पानी अंदाज से।
पहले आंवलो को पानी में अच्छी तरह से धो लें फिर उन्हें एक पूरे दिन के लिए चूने के पानी में भिगोकर रख दें। अब आंवलो को चूने के पानी से निकालकर साफ पानी से धो लें। पानी को किसी बर्तन में उबालें और उसमें डाल दें। 20 मिनट बाद उन्हें खोलते गर्म पानी में से निकाल लें। और किसी बड़ी थाली में फैला दें और ऊपर से 1 किलो चीनी डाल दें। एक दिन उन्हें यूं ही रहने दें।
अगले दिन आप देखेंगे कि आंवलो ने अपना पानी छोड़ दिया है और चीनी भी किसी हद तक घुल गई है। अब आंवलों को चीनी के घोल में से निकालकर, शेष 1 किलो चीनी भी पहली घुली चीनी में मिला दें।
इसके बाद चीनी में पानी मिलाकर घोल सा तैयार करें। घोल तैयार हो जाने पर उसमें आंवले भी डालें और फिर आग पर चढ़ा दें। जैसे-जैसे चाशनी गाढ़ी होती जाएगी, वैसे-वैसे आंवले भी गलते जाएंगे। आधे घंटे बाद आग पर से उन्हें उतार कर ठंडा होने दें। फिर बर्तन या कांच के बर्तन में भरकर रख लें। लीजिए आंवले का स्वादिष्ट मुरब्बा तैयार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.