जानिए क्रिकेट के मैदान पर अचंभित करने वाली क्या बातें देखी गई हैं?

Good news for cricket fans, IPL will be played in September-October, know

1999 में सचिन के पिता का निधन हो गया। पिता के निधन के सिर्फ 4 दिनों बाद सचिन ने वर्ल्ड कप में भारत को बनाए रखने के लिए मैच में 140 रन बनाए।

कोहली रणजी ट्रॉफी का एक महत्वपूर्ण मैच खेल रहे थे जब उन्हें पिता के निधन का पता चला। कोहली ने उस पारी में मेहनत करके 90 रन बनाए और टीम को मुश्किल से बचाया।

कुंबले ने टूटे हुए जबड़े के साथ 14 ओवर बोलिंग की और ब्रायन लारा को आउट कर भारतीय टीम को बचाया।

2003 वर्ल्ड कप के दौरान चोट से सूजे हुए पैर के साथ नेहरा ने गेंदबाजी की और 6 इंग्लैंड खिलाड़ियों को पवेलियन का रास्ता दिखाया।

खून की उल्टियां करने वाले युवराज ने सुनिश्चित किया कि भारत को दूसरा वर्ल्ड कप मिले।

इन सभी खिलाड़ियों ने मानसिक, भावनात्मक, शारीरिक चुनौतियों के बावजूद झंडे गाड़े, और यह मुझे हमेशा अचंबित करता है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *