जानिए व्हेल मछली की उल्टी एक करोड़ की क्यों होती है ?

आखिर किस काम के लिए व्हेल मछली के उल्टी का प्रयोग किया जाता है | व्हेल मछली की उल्टी की कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजार में करोड़ों रुपए की होती है, दरअसल कुछ लोग दुनिया भर में यह काम करते हैं कि वे लगातार इस मछली को तलाशते रहते हैं या खासकर जगह पर जाते हैं जहां व्हेल मछलियां आती रहती है, उनकी उल्टी सूखने के बाद पत्थर जैसी बन जाती है जिन्हें खोजने में लंबे समय तक इंतजार भी करना पड़ता है अगर यह पत्थर किसी को मिल गया तो यह बाजार में करोड़ों रुपए में भी बिक सकता है | व्हेल मछली की उल्टी बेचने आए दो लोगों को मुंबई में गिरफ्तार किए गए थे, मुंबई पुलिस ने इन लोगों को 1.3 किलोग्राम एम्बरग्रिस के साथ पकड़ा गया | इसका इस्तेमाल खासकर परफ्यूम बनाने के लिये किया जाता है, एम्बरग्रीस दरअसल बहुत कीमती होती है जो स्पर्म व्हेल की आंतो से रिसने वाले पदार्थ से बनती है |

व्हेल मछली सोने से भी ज्यादा महंगी होती है | जहां व्हेल मछलियां दिखती है वहां कड़ी नजर रखते हैं और वे चाहते हैं कि मछलियां उल्टी करें और उन्हें ठोस रूप में प्राप्त करें, और उन्हें बाजार में बेच दे | कई जगह ऐसी खबरें भी आई थी कि व्हेल मछली ने मछुआरे की जिंदगी बदल कर रख दी है | पिछले दिनों मुंबई के कई हिस्सों में व्हेल मछली के उल्टी बरामद किए जाने की खबर चल रही थी |
ऐसा माना जाता है कि यह जितनी पुरानी होती जाती है उतनी ही मूल्यवान होती है |
व्हेल के शरीर से निकलने वाला अपशिष्ट होता है
यह उनकी आंतों से निकलता है और इसे पचा नहीं पाती | इसेे एम्बर ग्रीस कहते हैं | ज्यादातर खाड़ी के देशो मे एम्बरग्रिस बेचा जाता है
अब आपको पता चल गया होगा कि ये इतनी महंगी क्यूँ होती है |

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *