जोंक अपने शिकार का पता कैसे लगाती है? जानिए

जोंक एक पानी में रहने वाला जिव हैं उसे अपने शरीर के तापमान का ही नहिं बल्कि वह जिस पानी में रहता हैं उस पानी का तापमान भी उसे पता चलता हैं । कोई भी जलचर एक बार उस पानी से साधर्म्य की स्थिति को पा लेता हैं।

तब जब उसमें जरा सा भी बदल होता हैं तो यह बदल उनकी त्वचा के सेन्सरि सिस्टम को पता चलता हैं। और वे इसी से उसकी दुरी नाप लेते हैं । क्योंकी पानी में आया नया जिव पानी मे आते ही उसकी गर्मी पानी में उतरने लगती हैं और शीतल पानी गर्म होने लगता हैं ।

और यही बदलाव उस जिव को अपने शिकार के पास खिंच लाती हैं । और जहाँ की गर्मी सबसे ज्यादा अर्थात शिकार को पा लिया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.