तांबे के ब्रेसलेट पहनने के फायदे

दोस्तों तांबे का ब्रेसलेट लोग फैशन के लिए पहनते हैं लेकिन उन्हें नहीं मालूम है इसके पहनने के कई सारी   बीमारियां भी दूर हो जाती है आज के पोस्ट में हम आपको यही बताएंगे ब्रेसलेट पहनने के फायदे क्या हैं। 

⇒ दोस्तों अगर शुद्ध तांबे का ब्रेसलेट आप लंबे समय तक अपने हाथों में पहनेंगे तो इसके कई सारे फायदे आपको नजर आने लगेंगे।  अगर आपके शरीर में किसी प्रकार की सूजन और दर्द रहता है वह भी कम हो जाएगा। तांबा एक ऐसा धातु है इससे हमारे शरीर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है ।  आप ब्रेसलेट नहीं पहनना चाहते हैं तो कोई बात नहीं आप तांबे की अंगूठी भी पहन सकते हैं इसका भी फायदा उतना ही होता है जितना कि ब्रेसलेट का होता है। 

⇒ अगर किसी व्यक्ति को लंबे समय से जोड़ों का दर्द है तो उसे अपने शरीर में तांबापहनने से बहुत ही लाभ मिलता है घुटनों में होने वाली जकड़न या कठोरता को कम करते या दर्द को कम करता है अगर किसी व्यक्ति को पुराने से पुराना ओस्टियोआर्थराइटिस हो उसमें भी यह  बेहतर काम करता है। अगर आप अपने कलाई पर घड़ी के रूप में या ब्रेसलेट या कंगन या फिर अंगूठी के रूप में इसे पहनते हैं तो इससे आपको काफी लाभ मिलता है। ज्योतिष शास्त्र में भी कहा गया है तांबा पहनने से हमारे आसपास की नकारात्मक ऊर्जा खत्म कर हमें सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करता है।  तांबे में एंटी इन्फ्लेमेटरी पाए जाते हैं। लेकिन यह ध्यान रखें कि जो आप तांबा पहनते हैं वह बिल्कुल शुद्ध हो उसमें एक परसेंट की भी मिलावट ना हो। 

⇒ एक रिसर्च में कहा गया है कि हमारे शरीर में तांबे की कमी से हमारे शरीर में असंतुलन पैदा हो जाता है और हमारे रक्त के अंदर कोलेस्ट्रोल का स्तर भी बढ्ने  लगता है जो हमारे हृदय और धमनियों को नुकसान पहुंचाता है। तांबे को क्रॉस-लिंक फाइबर, कोलेजन और इलास्टिन के लिए विशिष्ट माना जाता है और इस क्रॉस-लिंकिंग के बिना महाधमनी धमनीविस्फार की शुरुआत तेजी से होती है। इसलिए तांबे को  जरूर पहनना चाहिए।

⇒ तांबे के अंदर एंटी एजिंग गुण भी पाया जाता है अगर आप अपने शरीर में तांबा धारण करते हैं तो बढ़ती उम्र में भी आपके त्वचा की झुर्रियों को आने नहीं देता है और आप हमेशा यंग और जवान दिखाई देते हैं। 

⇒  तांबे को जब हम अपने हाथ की उंगली या  कलाई में पहनते हैं । तो रक्तप्रवाह में बहुत कम और नगण्य मात्रा में अवशोषित होता है। यह प्रक्रिया शरीर में एक शारीरिक संतुलन बनाती है। तांबा शरीर में मौजूद अन्य टॉक्सिन को कम करने का काम भी करता है।  

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *