“नीम का काजल” कैसे बनाया जाता है?

खारे नीम की पत्तियों को थोड़ा सा पानी डालकर पीस लें ( इतना पतला पेस्ट बनाएं कि रूई की बत्ती उसमें भीग जाए) रूई की बत्ती उसमें भिगो लें।आधे घंटा भीगने के बाद उसे पेपर पर सूखने रख दें।

उसका पानी सूखने के बाद किसी डिब्बे में रख लें। फिर दिए में सरसों का तेल डाल कर नीम की बत्ती डाल कर काजल बनाएं।

आजकल बाज़ार में चांदी का कजरौटा मिलता है। उसमे काजल बना लें। वह ढका भी जा सकता है और चांदी के बर्तन में बने काजल से आंखे भी ठंडी रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.