भगवान गरीब के घर क्यों पैदा (अवतार) नहीं होते, सिर्फ राजाओं के यहां ही क्यों?

भगवान अवतार लेते नहीं है , भगवान को अवतार दिलवाया जाता है । यह काम कोई गरीब कैसे करवा सकता है ? गरीब तो चालबाज लोगों द्वारा पैदा किए गए भगवानों का गुणकीर्तन ही कर सकते हैं ।

कबीर, तुलसी नानक आदि सभी तो जन सामान्य घरों में पैदा हुए थे । यह प्रकृति का नियम है यहां ताकतवर की ही पूजा होती आई है । जंगल हो या बस्ती ।सब जगह यही नियम लागू होता है ।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *