भारत के इस जगह पर भाई बहनों के साथ जाने पर है मनाई, वर्ना हो जाएगा

आप सभी जानते हैं की यह देश अजीबों गरीब जगहों से भरा हुआ है l और आप यह भी जानते हैं की रावण जैसा महाज्ञानी और महाप्रतापी असुर नरेश भगवान शिव जी का कितना बड़ा भक्त था l महाज्ञानी और महाप्रतापी होने के बाद भी उनकी एक गलती के कारण आज भी उन्हें एक गलत उदारहण और गलत संज्ञा दि जाती है l लेकिन दुनिया में ऐसे भी लोग हैं जहाँ आज भी रावण की पूजा की जाती है l

आज हम ऐसे ही एक अजीबों गरीब जगह के बारे में आपको बताने वाले हैं जहाँ पर सगे भाई बहनों को जाने पर रोक लगाया गया है और इसके पीछे एक गहरा रहस्य छुपा हुआ है l

दोस्तों हम बात कर रहे हैं उत्तरप्रदेश के जिले जालौन ने एक कालपी नामक एक जगह स्थित है जहा पर लंका मीनार नामक एक भव्य मीनार मौजूद है जिसे मथुरा प्रसाद ने बनवाया था l यह मीनार २१० फीट ऊँची है और इस मीनार पर रावण और उसके पूरे परिवार की प्रतिमा बनी हुई है l यह मीनार को मथुरा प्रसाद ने इसलिए बनवाया था क्यूंकि रामलीला में उन्हें रावण का किरदार निभाना पड़ता था l साल 1857 में बनी यह मीनार को बनाने में लगभग 20 साल लग गये और उस जमाने के अनुशार उसमे 1 लाख और 75 हज़ार से भी ज्यादा का खर्चा आया l

इस मीनार के परिसर में एक शिव मंदिर स्थापित है जो इस तरह से बनाया गया है की भगवन शिव हमेशा रावण के सामने हो और उसे भगवान शिव के दर्शन होते रहे l इसके अलावा यहाँ १०० फीट के कुम्भकर्ण की मूर्ति है और ६५ फीट की मेघनाथ की प्रतिमा भी लगी हुई है l इस मीनार की अद्भुत बात यह है की इस मीनार पर चढ़ने के लिए 7 बार इसकी परिक्रमा करनी पड़ती है और यह 7 परिक्रमा एक मामूली परिक्रमा नहीं है बल्कि यह शादी के 7 फेरों के सामान माना गया है इसलिए यहाँ सगे भाई-बहनों को जाने की मनाई है l

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *