महात्मा गाँधी के कुछ अनसुने रहस्य क्या हैं?

एक प्रसिद्ध इतिहासकार जेड एडम्स ने अपनी पुस्तक ‘Gandhi: Naked Ambition’ में कई ऐसी बातों का खुलासा किया है, जो काफी विवादास्पद रही हैं। इसमें कोई संदेह नहीं है कि किताब में लिखी गई बातों को जानने के बाद जनता और मीडिया में खासा बवाल मचा था, लेकिन इस किताब के बाद गांधी की सच्चाई के बारे में लोगों के मन में भी कई सवाल उठे और उन्हें इन बातों पर विश्वास भी नहीं हो रहा था। किताब में लिखा गया कि गांधी युवा लड़कियों के साथ नहाते और सोते थे, जिस पर कई लोग आसानी से विश्वास करने वाले नहीं थे। किताब के अनुसार, गांधी के बारे में इस तरह की जानकारी उनके जीवनकाल में ही जान ली गई थी, लेकिन गांधी को ‘राष्ट्र पिता’ के तौर पर ऊपर उठाने की प्रक्रिया के दौरान या उनकी मौत के बाद इन विवादास्पद तथ्यों को दबा दिया गया था ।

1. गांधी अपनी पत्नी से अक्सर मारपीट करते थे। उन्होंने दशकों तक उनके साथ शारीरिक संबंध भी नहीं रखे।

2. जब गांधी के पिता अपने जीवन की अंतिम सांसें ले रहे थे, तब भी गांधी सेक्स में लीन थे। वह व्यभिचारी थे और उन्होंने 2 ब्रिटिश महिलाओं से आध्यात्मिक शादी की थी। ये दोनों महिलाएं उनके आश्रम में ही रहती थीं।

3. गांधी अपनी 12 वर्षीय भतीजी और एक अन्य महिला के साथ ‘न्यूड’ सोते थे। इस पर गांधी जी का तर्क था कि वे अपनी मर्दानगी को नियंत्रित करने के लिए ऐसा करते थे।

4. गांधी एक दिन में दो बार एनिमा (प्राकृतिक चिकित्सा की एक पद्धति) करते थे।

5. गांधी के बेटे ने उन्हें छोड़ दिया था और इस्लाम धर्म अपना लिया था। गांधी ने ज़ुलु नरसंहार की निंदा की और इस पर ब्रिटिश सरकार का बचाव किया था।

6. किताब में सवाल उठाए गए कि गांधी ने कौन से युद्ध का समर्थन किया था, जिसके लिए उन्हें एक पदक भी मिला था? किताब में दावा किया गया है कि गांधी ब्रिटिश सेना में सार्जेंट मेजर थे और युद्ध के दौरान शानदार काम करने पर उन्हें मेडल से नवाजा गया था।

7. गांधी अपने दोस्त हिटलर को पत्र लिखते थे और उनका समर्थन भी करते थे।

8. गांधी की यहूदियों के लिए एक खतरनाक सलाह दी थी कि ‘वे सामूहिक आत्महत्या का संकल्प लें। मुझे आपकी बहादुरी या देश भक्ति के बारे में कोई संदेह नहीं है और न ही मैं आपके विरोधियों के द्वारा प्रचारित दैत्य पर विश्वास करता हूं।’ यह बात गांधी ने हिटलर को कही थी।

9. भारत सरकार ने फिल्म गांधी के लिए 10 मिलियन डालर (लगभग 10 लाख रुपए का) योगदान दिया था। इस बात का उल्लेख कोलिन्स एट अल ने ‘आधी रात में आजादी’ नामक उपन्यास में किया है।

10. भारत के किसी टिकट में उनके बचपन के चित्र नहीं मिलते हैं, लेकिन अमेरिकी महाद्वीप में स्थित एनटेगुआ और बरबूडा नामक देश ने गांधी पर आधारित दो टिकट जारी किए हैं। इनमें उन्हें टोपी पहने हुए दिखाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.