मोबाइल के एलसीडी, ओएलईडी एमोलेड और सुपर एमोलेड डिस्प्ले में क्या अंतर है और कौनसी डिस्प्ले सर्वश्रेष्ठ है?

सभी प्रकार के डिस्प्ले के बारे में जानना ओर भी जरूरी हो जाता है जब हम नया smartphone लेना चाहते है, बहुत से लोग जब नए फोन लेने जाते है या ऑनलाइन खरीदते है तो वे मोबाईल के फीचर्स कैमरा प्रॉसेसर ओर लूक को देख कर पसंद करते है जबकि फोन में सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाने वाले चीज डिस्प्ले ही होती है अगर डिस्प्ले अच्छा नहीं होगा तो आपको विडियो, gaming में अच्छा experience नहीं मिलेगा, अगली बार जब नए smartphone लेने जाए तो ये भी देख ले की किस प्रकार का डिस्प्ले आपके लिए अच्छा रहेगा,

आज मार्केट में तरह तरह के डिस्प्ले आ गए है, जिससे कुछ लोग इस कन्फ्यूजन में होते है किस types of mobile display screen वाला स्मार्टफोन ले, इन डिस्प्ले का उपयोग टीवी, लैपटाप, computer, mobile phone, ipad, digital watch, smartwatch और बहुत से प्रोडक्ट्स में किया जाता है,

तो आज हम सभी डिस्प्ले को पूरी डिटेल में बताएंगे ओर हम सिर्फ उन्हीं डिस्प्ले के बारे में बताएंगे जो ज्यादातर स्मार्टफोन में इस्तेमाल किया जाता है या आज के समय में बहुत चर्चित है।

All best types of mobile display screen

#1 LCD (liquid crystal display)

किसी भी तरह के डिस्प्ले में इन तीन चीज़ों का होना बहुत जरूरी होता है पहला ये की डिस्प्ले को रोशनी प्रदान करने के लिए एक लाईट जिससे कि डिस्प्ले को देखा जा सके ओर दूसरा कलर्स ये आपको डिस्प्ले में कलर्स दिखाएगी अगर कलर्स नहीं होंगे तो पूरी स्क्रीन सफेद दिखाई देगी या काली इसलिए डिस्प्ले में कलर्स का होना बहुत जरूरी है ओर तीसरी चीज ये है कि कैसे लाईट ओर कलर्स को नियंत्रित कर पाएं,

एलसीडी डिस्प्ले के pixel में तीन सब pixel होते हैं लाल, हरा, नीला जो आपस में मिलकर 16m नय कलर्स दिखाते है साथ ही इनमें एक कलर् फिल्टर लगा होता है जिसकी वजह से पिक्सेल को वॉल्टेज देकर नियंत्रित कर सकते है की वह कितना लाईट पास करेगा ओर कितना नहीं,

एलसीडी डिस्प्ले आपको ज्यादातर स्मार्टफोन्स में देखने को मिल जाते है, यह अमोल्ड डिस्प्ले के मुकाबले ज्यादा सस्ता ओर अच्छी ब्राइटनेस के साथ आता है एलसीडी डिस्प्ले के पिक्सल में अपना खुद का लाईट नहीं होता बल्कि एक backlight लगा होता है जिससे यह डिस्प्ले वाला स्मारटफोन ओलेड डिस्प्ले से ज्यादा बैटरी खर्च करता है।

#2 TFT (Thin film transistor)

Tft display का फूल फोरम थिन फ़िल्म ट्रांजिस्टर होता है ये डिस्प्ले एलसीडी का ही अगला वर्जन है इस डिस्प्ले का उपयोग पहले के स्मार्टफोन ओर आज के सस्ते फोंस में किया जाता है क्योंकि tft डिस्प्ले ओरो के मुकाबले काफी सस्ता देखने को मिल जाता है tft डिस्प्ले की मोटाई थोड़ी ज्यादा होने के कारण मोबाईल फोन के साइज में भी फर्क आ जाता है,

Tft डिस्प्ले के pixel में हमे इलेक्ट्रोड देखने को मिलता है जिसके कारण ना तो अच्छे कलर्स देखने को मिलते है ना ही अच्छी व्यू एंगल देखने को मिलता है, जिसके कारण डिस्प्ले को थोड़ा भी टिल्ट करने पर डिस्प्ले अच्छे से दिखाई नहीं देते,

यह डिस्प्ले सस्ते होने के साथ काफी सस्ते क्वालिटी ओर कलर्स भी अच्छे नहीं दिखाते, अगर आप नए फोन लेने जाए तो पहले ये सुनिश्चित कर लें कि स्मार्टफोन tft डिस्प्ले वाला ना हो, tft डिस्प्ले थोड़ा फिका और विडियो वगेरह का अनुभव ठीक से नहीं ले पाएंगे, और ये डिस्प्ले जल्दी टूट भी जाता है।

#3 IPS-LCD (in plane switching liquid crystal display)

आईपीएस एलसीडी ये एलसीडी का ही एक रूप है इसमें भी वही टेक्नोलॉजी काम करती है जो एलसीडी डिस्प्ले में करती थी, यह डिस्प्ले आज के इस दौर में बहुत प्रचलन में है क्योंकि ये amoled display कि अपेक्षा सस्ते ओर कलर्स को बहुत ही नेचुरल दिखाते है,

जबकि amoled display में कलर्स ज्यादा boosted और over saturated देखने को मिलता है अगर आप अपने स्मार्टफोन में accurate colours देखना चाहते है तो आपको आईपीएस एलसीडी डिस्प्ले की तरफ जाना चाहिए, इस डिस्प्ले में भी एक बैकलाइट होता है जिसकी वजह से सुरज के तेज किरणों में भी इस डिस्प्ले को बिना किसी परेशानी के क्लियर देख पाएंगे, ओर व्यू एंगल को भी बढ़ाया गया है यानी की आप जब फोन को थोड़ा टिल्ट भी करते है तो ठीक से देख पायेंगे,

यह डिस्प्ले भी एमोलेड से सस्ती ओर tft डिस्प्ले से थोड़ा महंगा मिल जाता है ओर अमोल्ड से थोड़ा कम ओर tft से थोड़ा सा मोटा डिस्प्ले देखने मिलता है जिसके कारण स्मार्टफोन भी थोड़े हैवी हो जाते है इस डिस्प्ले का डॉउन प्वाइंट यह है कि ये बैकलाइट टेक्नोलॉजी पे काम करता है जिससे बैटरी भी ज्यादा खर्च करती है ओर ब्लैक कलर को ब्लैक के बजाए थोड़ा ग्रे कलर में दिखाता है।

#4 OLED (organic light emitting diode)

OLED display यानी कि ऑर्गेनिक लाईट एमिटिंग डायोड , ये डिस्प्ले उपर के तीनों डिस्प्ले से अच्छा कलर्स दिखता है इस वजह से महंगा भी है, ओलेड डिस्प्ले पतली होने के साथ साथ इसका व्यू एंगल भी काफी अच्छा होता है,

अभी तक के सारे डिस्प्ले एलसीडी टेक्नोलॉजी पे काम करते थे लेकिन इसका मैकेनिज्म थोड़ा अलग है ओलेड में आपको कोई भी बैकलाइट नहीं मिलती जिसके कारण हल्का ओर पतला मिल जाता है।

#5 AMOLED (active matrix organic light emitting diode)

#6 RETINA DISPLAY

#7 SUPER AMOLED …….

सही डिस्प्ले का चुनाव कैसे करें

हमने आपको बहुत से डिस्प्ले के बारे में बता दिया लेकिन अभी भी बहुत से लोग इस कन्फ्यूजन में होंगे कि कोन सा types of mobile display screen वाला फोन ले, अगर आपके मन में भी ऐसा सवाल है तो चिंता ना करें हम आपको आपके उपयोग के हिसाब से सही डिस्प्ले के बारे में बताएंगे,

अगर आपको काफी सस्ते फोन चाहिए जैसे 3000, 4000rs के अंदर तो आप tft डिस्प्ले की और ही जाए क्योंकि इस प्राइस रेंज में कोई ओर डिस्प्ले का ऑप्शन भी नहीं है इस tft डिस्प्ले में आपको ठीक ठाक ही experince मिलेगा,

अगर आपकी बजट 10k से उपर है तो आप आईपीएस एलसीडी की ओर जाएं क्योंकि इस price range में आपको एमोलेड डिस्प्ले काफी मुश्किल से मिलता है अगर मिलता भी है तो उसके बाकी के फीचर्स अच्छे नहीं होते जब आपको एमोलेड डिस्प्ले के साथ अच्छे फीचर्स वाले फोन मिलते है तो उस फोन को लेना सही चॉइस होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published.