यदि किसी को इंजेक्शन में पानी भरकर लगाओ तो क्या होगा? जानिए

नुकसान होगा।

ऐसा मत समझिए कि जब सादा पानी ही दिया है तो ना फायदा होगा ना नुकसान। ज्यादा तकनीकी पहलू पर ना जाते हुए यह बताना चाहूंगा कि कोई भी इंजेक्शन आइसोटोनिक होना चाहिए। हाइपरटोनिक या हाइपोटनिक सॉल्यूशन शरीर की कोशिकाओं को नुक़सान पहुंचाएगा।

अगर आपने सादा पानी के इंजेक्शन को इंट्रा वेनस ( खून में लगाया) तो यह रक्त कोशिकाओं की तुलना में हाइपोटनिक होगा और यह लाल रक्त कोशिकाओं के अन्दर जाएगा। इससे कोशिकाएं टूटेगी। ऐसा नहीं है कि थोड़ी पानी की मात्रा से मृत्यु हो जाएगी अथवा गंभीर समस्या आएगी परन्तु यह नुकसान ही करेगा। अगर बहुत ज्यादा मात्रा में सादा पानी ड्रिप से देते रहे तो इससे गंभीर खतरे उत्पन्न हो सकते हैं। मांस में भी पानी का इंजेक्शन कोशिकाओं को नुक़सान पहुंचाएगा और दर्द देगा।

इसी कारण से सभी इंजेक्शन को आइसोटोनिक बनाने की कोशिश होती है, हालांकि हर बार ऐसा संभव नहीं हो पाता। कई बार इंजेक्शन को स्टेबल बनाने के लिए हाइपरटोनिक रखना पड़ता है, परंतु ऐसा मजबूरी में किया जाता है।

Image result for इंजेक्शन में पानी भरकर

ऐसे में पानी का इंजेक्शन किसी को लगाना कहीं से उचित नहीं है तथा खाली इंजेक्शन से हवा डाल देना और भी ज्यादा खतरनाक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.