यदि फ्लाइट के दौरान हैंडसेट को फ्लाइट मोड में स्विच नहीं किया जाता है तो क्या होता है? जानिए

जब आप प्लेन में सफर करते हैं तो आपसे अपने मोबाइल को Airplane Mode में रखने को कहा जाता है। इसके पीछे की वजह आपके मोबाइल से निकलने वाला सिग्नल है। आपके मोबाइल से हमेशा radio waves और Electromagnetic Interference अर्थात् EMI उत्सर्जित होती रहती हैं।

जब आप फ्लाइट में होते हैं और फ्लाइट Take off करती है, तब आपके मोबाइल और टेलीफोन टावर के बीच की दूरी बढ़ने लगती है। ऐसी स्थिति में आपका फोन लगातार टॉवर से कनेक्शन खोजता रहता है।
ऐसे में अधिक दूरी के चलते जब आपका मोबाइल टावर से कनेक्शन नहीं पाता है, तब वह और भी तीव्र गति से स्ट्रॉन्ग इलेक्ट्रिक सिग्नल भेजता है।

यह सिग्नल aircraft के कम्युनिकेशन डिवाइस में अवरोध पैदा करता है। जिससे पायलट को एयर ट्रैफिक कंट्रोल से कम्युनिकेट करने में परेशानी होती है।

मुझे नहीं लगता कि आप ऐसे प्लेन में सफर करना चाहेंगे जिसमे पायलट और एयर ट्रैफिक कंट्रोल के बीच कम्युनिकेशन बाधित हो गया हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.