यात्री हवाई जहाज में यात्रियों के लिए पैराशूट क्यों नहीं होते? जानिए वजह

आप सब लोग जानते हैं कि यात्री हवाई जहाज बहुत बड़े हवाई जहाज होते हैं और यह कमर्शियल फ्लाइट्स में आते हैं जो यातायात के प्रमुख साधन बन चुके हैं। आजकल अधिकतर लोग अपने समय बचाने के लिए हवाई जहाज में सफर करना पसंद करते हैं पर क्या आप लोग यह जानते हैं कि आपके हवाई जहाज में पैराशूट नहीं होता अगर आपका हवाई जहाज क्रैश कर रहा हो या फिर उसमें कोई खराबी आ जाए तो फिर आप हवाई जहाज से बाहर नहीं निकल सकते। तो चलिए जानते है कि हवाई जहाज में पैराशूट यात्रियों के लिए क्यों नहीं होते।

हम लोगों ने अक्सर देखा होगा कि फाइटर जेट्स के पायलट इमरजेंसी के वक्त अपनी सीट एग्जिट कर के बाहर निकल आते हैं और उनकी सीट से पैराशूट अटैच होता है जिससे कि वह उसके सहारे आराम से जमीन पर आ जाते हैं पर ऐसा कमर्शियल हवाई जहाज में नहीं होता।

यात्री हवाई जहाज में पैराशूट ना होने के यह प्रमुख कारण है

१) यात्री हवाई जहाज कई हजार फिट की ऊंचाई पर उड़ रहा होता है जहां से पैराशूट का उपयोग करना संभव नहीं होता।

२) हर किसी व्यक्ति को पैराशूट को उड़ाना भी नहीं आता इसलिए यह भी संभव नहीं है कि पैराशूट होने के बावजूद भी हर कोई शख्स जमीन पर सुरक्षित आ सके।

३) यह भी संभव है कि इतने सारे पैराशूट होने की वजह से हवाई जहाज का वजन बढ़ जाए।

४) अगर आप हवाई जहाज से छलांग लगाने के बारे में भी सोचेंगे तो यह बात ध्यान में रखिए कि आप हवाई जहाज के इंजन में आ सकते हैं क्योंकि वह काफी रफ्तार से हवा अंदर खींच रहे होते हैं और जैसे ही आप छलांग लगाएंगे यह संभव है कि आप हवाई जहाज के इंजन में खींचकर अंदर चले जाएंगे और आप ही मृत्यु हो जाएगी।

५) हवाई जहाज काफी तेज रफ्तार से उड़ रहे होते हैं और अगर आपने इतनी तेज रफ्तार में उड़ते हुए हवाई जहाज से छलांग लगाई तो आप उसके पंख पर जाकर टकरा सकते हैं जैसे आप ही मौत हो सकती है।

६) और जो हवाई जहाज पैराग्लाइडिंग वाले होते हैं उनमें दरवाजे अलग प्रकार के होते हैं और उनके रफ्तार भी कमर्शियल हवाई जहाज से बहुत कम होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.