ये कोरोना वायरस का “डबल-ट्रिपल म्यूटेंट” क्या है? जानिए

कोरोना वायरस की दूसरी लहर तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रही है। भारत के तमाम राज्यों में लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू भी जारी है बावजूद इसके कोविड संक्रमण के मामलों में सुधार नहीं हो रहा है। हर रोज लाखों की संख्या में लोग कोविड (Covid-19) से संक्रमित हो रहे हैं।

एक ओर जहां कोरोना का पुराना रूप लोगों को एक के बाद एक चपेट में ले रहा है, तो वहीं इसके डबल म्यूटेंट की चपेट में आने वाले मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी चिंता का विषय बनी हुई है। अभी डबल म्यूटेशन से लड़ने को तैयार हुए ही थे कि देश के कई हिस्सों में कोरोना के ट्रिपल म्यूटेशन वेरिएंट ने भी दस्तक दे दी है, जिसने सरकार से लेकर आम लोगों को चिंता में डाल दिया है।

Covid-19 का नया वेरिएंट अब तक पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र और दिल्ली में पाए जाने की जानकारी है। विशेषज्ञों का मानना है कि वायरस के बदलते रूप, देश में तेजी से बढ़ते संक्रमित मरीजों की संख्या के लिए जिम्मेदार हैं।

भारत में मिले वायरस के म्यूटेंट

इंडियन ओरिजन कोरोना का डबल म्यूटेंट वेरिएंट, जिसे वैज्ञानिकों ने B.1.617 का नाम दिया है, इसकी पहचान मार्च महीने में हुई। कोरोना की दूसरी लहर के बीच इससे संक्रमित भी काफी मरीज पाए जा रहे हैं। कोरोना के सेकंड वेरिएंट में मौजूद E484Q और L452R म्यूटेशन्स, इसे ज्यादा संक्रामक और एंटीबॉडीज को पार कर शरीर में प्रवेश करने में सक्षम बनाते हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *