ये हैं भारत के सबसे डरावने रेलवे स्टेशन

भारतीय रेल दुनिया का चौथा और एशिया का दूसरा सबसे बड़ा रेलवे है. जो यातायात के सबसे सुगम साधनों में से एक है. यहां हर रोज लाखों लोग ट्रेन से सफर करते हैं. भारत में करीब 8,000 रेलवे स्टेशन हैं. इनमें से कुछ स्टेशन इतने डरावने हैं कि शाम होते ही यहां सन्नाटा पसर जाता है और ऐसा लगता है कि यहां भूतों का निवास हो. कुछ लोग इन स्टेशनों को भूतिया भी मानते हैं. तो चलिए सबसे पहले बात करते हैं नैनी रेलवे स्टेशन की.

ये स्टेशन उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में स्थित है. नैनी जंक्शन को भी लोग भूतिया स्टेशन मानते हैं. इस रेलवे स्टेशन के नजदीक में ही नैनी जेल है. देश की आजादी में अहम योगदान देने वाले कई स्वतंत्रता सेनानी नैनी जेल में बंद रहे. जेल में बंद लोगों को कई तरह के यातनाओं का सामना करना पड़ता था. यातनाओं की वजह से ही जेल में बंद कई लोगों की मौत हो गई. लोगों का मानना है कि नैनी जंक्शन पर स्वतंत्रता सेनानियों की आत्माएं घूमती हैं.

नैनी रेलवे स्टेशन के बाद नंबर आता है आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में स्थित चित्तूर रेलवे स्टेशन का. इस रेलवे स्टेशन को भी डरावने रेलवे स्टेशनों में शामिल किया गया है. स्टेशन के आसपास रहने वाले लोगों का मानना है कि बहुत समय पहले यहां हरी सिंह नामक एक सीआरपीएफ जवान ट्रेन से उतरा था. ट्रेन से उतरने के बाद आरपीएफ और टीटीई ने मिलकर इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई. इस घटना के बाद से ही हरी सिंह की आत्मा इंसाफ के लिए रेलवे स्टेशन पर ही भटकने लगी.

मुंबई में स्थित मुलुंड रेलवे स्टेशन को भी भूतिया रेलवे स्टेशन माना जाता है. इस स्टेशन पर आने वाले यात्रियों और आस-पास रहने वाले लोगों का दावा है कि उन्हें यहां लोगों के चीखने-चिल्लाने के साथ-साथ रोने की भी आवाजें सुनाई देती हैं.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *