ये है रामायण के असली होने के सबूत देखे तस्वीरें

रामायण हिंदुओं का एक प्राचीन ग्रंथ है जिसके बारे में हम बचपन से पढ़ते आ रहे हैं की कैसे रावण ने सीता माता को अगवा किया और फिर श्रीराम ने हनुमान जी की मदद से रावण को हराकर सीता माता को वापस लेकर आए पर आज भी कुछ लोग रामायण को काल्पनिक मानते हैं तो दोस्तों आज हम आपको अपने इस लेख के जरिए रामायण के होने के कुछ ऐसे तथ्य बताएंगे जिससे आप यकीन करने पर मजबूर हो जाओगे की रामायण सच में थी चलिए शुरु करते हैं

1. जैसा कि हम सब जानते हैं रावण ने माता सीता को अशोक वाटिका में रखा था क्योंकि माता सीता ने रावण के महल में रहने से मना कर दिया था लेकिन क्या आपको पता है कि वह अशोक वाटिका आज भी मौजूद है इस अशोक वाटिका को श्रीलंका में बॉटनिकल गार्डन के नाम से जाना जाता है और इस गार्डन में वह जगह जहा सीता माता बैठा करती थी उस जगह को सीता एलए के नाम से जाना जाता है लेकिन यहां पर लोगों को हैरान करने वाली बात है यहां के पेड़ जैसा कि हम जानते हैं कि रामायण में बताया गया था कि अशोक वाटिका को अशोक वाटिका इसलिए कहते हैं क्योंकि इस वाटिका में अशोक के पेड़ बहुत ज्यादा थे पर आपको जानकर हैरानी होगी कि श्रीलंका में मौजूद इस गार्डन में वाकई में अशोक के पेड़ बहुत ज्यादा है

2. रामायण में बताया गया है कि जब रावण सीता माता को अगवा करके ले जा रहा था तब जटायु नामक एक गिद्ध ने रावण से युद्ध किया था और उस युद्ध में जटायु का एक पंख काट दिया गया था और वो पंख जहा गिरा था वहा आज भी जटायु की एक मूर्ति बनी हुई है जिसे स्टेचू ऑफ़ जटायु भी कहा जाता है

3. जैसा कि हम सब जानते हैं कि रामायण में जब श्रीराम को लंका जाना था तब समुद्र को पार करना तो उन्होंने समुद्र में पत्थर डालकर एक पुल का निर्माण किया क्या आप जानते हैं कि वह पुल आज भी मौजूद है और उस पुल की लंबाई 30 किलोमीटर है जिसे रामेश्वर पूल बोला जाता है और इंग्लिश मैं इसे एडम ब्रिज कहा जाता हसि इस पुल को आप गूगल मेप से देख सकते है तो दोस्तों आपको अब तो यकीन हो गया होगा की रामायण कोई काल्पनिक नहीं है अगर आप से कोई बोले की रामायण काल्पनिक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.