लोहरी किस धर्म का प्रमुख पर्व है?

पंजाब ओर पूरे भारत के लोगों के लिए, लोहड़ी का त्यौहार एक महत्वपूर्ण त्योहार है । यह पंजाब में कटाई के मौसम और सर्दियों के मौसम के अंत का प्रतीक है।

यह महत्वपूर्ण त्योहार में एक विशाल bonfire बनाकर उसे जलाते है ओर ये bonfire सूर्य देव को श्रद्धांजलि देनेका का प्रतीक है।

हर वर्ष 13 जनवरी के दिन Lohri का त्यौहार धाम धूम से लोग मानते है, Lohri त्यौहार सर्दियों की फसलों के कटाई के साथ जुड़ा हुआ है।

लोहड़ी के त्यौहार से जुड़ा एक विशेष महत्व यह है कि इस दिन सूर्य मकर राशी में प्रवेश करता है, इसे शुभ माना जाता है क्योंकि यह नए सिरे से शुरू होता है।

यदि परिवार में कोई सुखद घटना हुई हो जैसे कि बच्चे का जन्म या पिछले वर्ष में विवाह हुआ हो तो लोहड़ी अधिक महत्व रखती है। सभी लोग ढोल बजाके के भांगड़ा नृत्य में भाग लेते हैं। ओर बच्चे हो या बुड्ढे सभी लोग बड़े उत्साह से नाचते है।

सूर्य अच्छाई का प्रतीक है। यह हमें वह सब देता है जिसकी हमें जरूरत है। लोहड़ी एक तरफ अच्छे जीवन के लिए हमारे प्रयास को पवित्र करती है और दूसरी ओर बुरी आत्माओं को नष्ट करती है।

Lohri का त्यौहार हमारे जीवन को खुशियों से भर देता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.