लड़कियों को चूड़ियाँ क्यो पसन्द होती हैं,जानिए

घूँघट की आड़ में दिलबर का दीदार अधूरा रहता है
जब तक ना पड़े आशिक की नज़र श्रृंगार अधूरा रहता है।

फ़िल्म “हम हैं राही प्यार के” का यह गीत तो आपने सुना ही होगा आप सोच रहें होंगे कि इस गीत से भला हमे क्या लेना। दरअसल इस गीत में जिक्र हुआ है श्रृंगार का। श्रृंगार जो महिलाओं को बहुत अधिक पसंद होता है। बहुत सारी चीजें होती है, श्रृंगार की जिनके द्वारा महिलाएं सजती सँवरती हैं। उन सभी चीजों में चूड़ियाँ प्रमुख हैं। हाथों में खनकती चूड़ियाँ महिलाओं की खूबसूरती में चार चाँद लगा देती हैं। बाज़ार में अनेक प्रकार व दाम की चूड़ियाँ मौजूद हैं, आइये जानते हैं आज महिलाओं की पसन्दीदा चूड़ियाँ के बारे में।

सबसे पहले पहनी जाती हैं चूड़ियाँ-
चूड़ियों का इतिहास बहुत पुराना है। सिंधु घाटी की सभ्यता के समय से ही महिलाएँ चूड़ियाँ पहनती आई हैं। प्राचीन समय में सोने व चाँदी की चूड़ियां चलन में थी वर्तमान समय मे उनकी जगह अब काँच की चूड़ियों में ले ली है, हालाँकि काँच की चूड़ियों का इतिहास भी काफी पुराना है।

क्यों पहनी जाती है चूड़ियां-
हिन्दू धर्म अनुसार चूड़ियों को सुहाग की निशानी बताया जाता है। एक शादीसुदा महिला को काँच की चूड़ियाँ पहनना अनिवार्य है, नही पहनने पर तमाम तरह की बातें बनाई जाती हैं। शादीसुदा महिला की चूड़ियाँ उसके पति के मरणोपरांत ही उतारी जाती हैं। चूड़ियों में दरार आने या टूटने को अपशगुन माना जाता है।

लड़कियों को क्यो पसन्द होती हैं चूड़ियाँ-
महिलाओं के हाथों में खन खन करती चूड़ियाँ, महिलाओं को और भी अधिक खूबसूरत बना देती हैं, इसी कारण से महिलाओं को चूड़ियाँ पसन्द होती है। बाजार में अनके प्रकार की चूड़ियाँ 10 रुपए से लेकर लाखों रुपए तक कीमत में मौजूद हैं। सावन के महिने में हरी चूड़ियों को विशेष महत्व दिया जाता है। चूड़ियों के प्रसिद्ध होने का कारण विभिन्न तरह की मान्यताएँ भी है।

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *