सर्दी गर्मी क्यों पड़ती है? कैसे बदलता है मौसम? जानने के लिए जरूर पढ़िए

कभी सर्दी, कभी गर्मी, तो कभी बारिशऐसे में सवाल यह उठता है कि हमारे पृथ्वी पर ऐसा क्या होता है जीसे कि मौसम बदलते हैं। तो आपको बता दूं कि धरती की दूरी यानी कि अर्थ एक्सेस की वजह से मौसम बदलते हैं। साल भर में धरती के अलग-अलग हिस्सों में धूप पढ़ती है।

मतलब जब उत्तरी ध्रुव सूरज की तरफ झुका हुआ होता है, तो नॉर्थ के हिस्से में गर्मी का मौसम होता है। और जब दक्षिणी ध्रुव झुकता है, तो दक्षिणी गोलार्ध में गर्मी बढ़ती है। वैसे इस बारे में एक धारणा है कि गर्मी का मौसम इसलिए होता है कि उस समय सूर्य से धरती की दूरी कम हो जाती है और सर्दियों में सूर्य की दूरी धरती से ज्यादा हो जाती है इसलिए सर्दियों का मौसम आता है। इसे सुनने में एक कौन सेप्टिक लगता है लेकिन ऐसा असल में है ही नहीं।

हमारी पृथ्वी पूरी तरह से गोल नहीं है? यो यो तरफ से थोड़ी सी चपटी सी है। और साल में पृथ्वी वाकई में सूरज से नजदीक होती है। और साल में कुछ दिन तक दूरी ज्यादा होती है। मौसम इसलिए बदलते हैं कि कक्षा का यह जो गोल है वह एक समय में एक साथ नहीं रहता है समय के अनुसार ही हो बदलता रहता है।

बहुत समय पहले की बात है जब पृथ्वी की उम्र ज्यादा नहीं थी। माना जाता है कि तब कोई बड़ी भारी सी चीज पृथ्वी से टकरा गई। और इस टकराव के कारण पृथ्वी अपनी कक्षा में सीधे ऊपर नीचे रोटेशन के बजाए पृथ्वी थोड़े झुकाव से घूमने लगी। दोस्तों पृथ्वी का यह जो झुका है इसी वजह से पृथ्वी के मौसम में बदलाव आते रहते हैं कभी बारिश कभी गर्मी तो कभी सर्दीया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.